Author Archives: Rishi Kumar

Rishi Kumar

About Rishi Kumar

रिषी सम्पर्क: tewaronline@gmail.com वेबसाईट: http://tewaronline.com/

रेट फिक्स है..!!(व्यंग्य)

हमारी संस्कृति में एक छोटी से छोटी मशीन का उद्घाटन बिना पूजा पाठ के वर्जित है.कोई भी नयी चीज़ हमारे घर आती है तो उसकी लम्बी आयु के लिए इश्वर से प्रार्थना कि जाती है.यद्यपि इश्वर सिर्फ मौकों में याद … विस्तार से पढ़ें

Posted in लिटरेचर लव | Leave a comment

पटना में बनेगा “गंगा ड्राइव-वे”(Ganga Driveway): महापरियोजना को सरकारी मंज़ूरी

Tewaronline reports: Mangalore अगर आप पटना नगरी में रहते हैं और यातायात में आने वाली समस्याओं से परेशान हैं तो आप सभी के लिए एक खुशखबरी है. पटना में लन्दन की “थेम्स -पाथ” और मुंबई की “मरीन-ड्राइव” की तर्ज़ पर … विस्तार से पढ़ें

Posted in पहला पन्ना | 3 Comments

“किसान विकास पत्र” योजना को बंद करने का फैसला: अन्य सरकारी निवेश योजनायें हुईं आकर्षक

Tewaronline reports: Mangalore इंडिया पोस्ट की अति- लोकप्रिय लघु बचत योजना “किसान विकास पत्र ” को बंद करने का फैसला लिया गया है.ग्रामीण और छोटे शहरों के निवेशको में खासी लोकप्रिय इस योजना को बंद करने का फैसला छोटे निवेशकों … विस्तार से पढ़ें

Posted in इन्फोटेन, कंपनी | Leave a comment

Cheques Validity reduced to 3 months : RBI

TEWARONLINE REPORTS:MANGALORE Reserve Bank Of India, in it’s circular vide ref DBOD.AML BC.No.47/14.01.001/2011-12 dated 04 Nov 2011, has reduced the validity of Banks’ payment instruments viz. cheques, draft, BCs, POs from existing 6 months to 3 months. Though, the directives … विस्तार से पढ़ें

Posted in कंपनी | Leave a comment

विक्की और जैकी

विक्की और जैकी (कहानी ) आज तो उसका रवैया देख मुझे कुछ समझ नहीं आया. वो दिखावा था, एक माँ का क्षणिक क्रोध था या फिर गरीबी से लड़ते लड़ते आई झुंझलाहट. माँ से पिटने के बाद वो बालक आँखों … विस्तार से पढ़ें

Posted in लिटरेचर लव | 7 Comments

नायक

नायक (कविता ) (समस्या…बड़ी है..) ईक्षा नायक बनने की प्रबल ईक्षा…! पर डर. लाखों लाशों का बोझ. शायद टूट जाए कमर.. फिर वही लहू, आंसू और मलाल, एक गली साफ़, तो दूसरी फिर लाल! मुझ अकेले का क्या! बन जाऊंगा … विस्तार से पढ़ें

Posted in लिटरेचर लव | 1 Comment

Gift (story of a mother)

फ़ोटो साभार- मेरेलो.काम Gift (Story Of A Mother) “Was that a love marriage or an arranged one?” The old lady was taken aback by the question Iman asked. She, apparently, was not expecting a lad of his grandchild’s age to … विस्तार से पढ़ें

Posted in लिटरेचर लव | 5 Comments

काले कागज़ पे काली स्याही असर क्यों छोड़े !(कविता)

हज़ारों अर्जियों पड़ी हैं उनके  मेज़ पर कब से तेरे अर्जी की दाखिली का वक़्त कल ही आएगा..! खड़े रहो तब-तलक, बनो कतार का हिस्सा.. थक के आज नहीं कल, दम निकल ही जाएगा..! लाला बनो   तो लाठी मिले ,गांधी … विस्तार से पढ़ें

Posted in पहला पन्ना, लिटरेचर लव | Leave a comment

तिरंगा बोल रहा है..!

ट्रिंग ट्रिंग…ट्रिंग ट्रिंग..ट्रिंग ट्रिंग…….हैलो नायक   ! फोन पर नाम के साथ हैलो कहने का नायक  का  स्टाइल यूनिक है। कहता है, इस तरह कॉल करने वाला समझ जाता है कि  वो नायक  नाम के किसी व्यक्ति से  बात कर रहा … विस्तार से पढ़ें

Posted in अंदाजे बयां | Tagged | 2 Comments

ezeego1 जैसी कंपनियों की लूट-खसोट से जागो पप्पू जागो !!

समय बदल गया है। पप्पू ऑनलाइन  हो गया है।अब पप्पू और उसके दोस्त बिजली और पानी के बिल को घर पर ही इंटरनेट से जमा कर देते हैं।पप्पू के पापा बिहार के एक सुदूर देहात के बैंक से पप्पू को … विस्तार से पढ़ें

Posted in कंपनी | 4 Comments