Author Archives: अविनाश नन्दन शर्मा

… मस्त हूं अपनी मस्ती में (ओशो जन्मदिवस-11दिसंबर)

विचारों की एक ऊंची श्रृंखला और आध्यात्मिक आंदोलन की आंधी का दूसरा नाम है ओशो। वास्तव में ओशो मानवता की  एक नई आवाज हैं, क्रांति की एक नई भाषा हैं। ओशो का शाब्दिक अर्थ है, वह व्यक्ति जिसपर भगवान फूलों … विस्तार से पढ़ें

Posted in अंदाजे बयां | 5 Comments

जस्टिस काटजू का वैचारिक संघर्ष

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मार्कण्डेय काटजू प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन बनाये जाने के बाद से विवादों में घिरे हैं । तब उन्होंने बड़े ही बेबाक अंदाज में कहा था कि मीडिया के लोगों को साहित्य , राजनीति … विस्तार से पढ़ें

Posted in रूट लेवल | 2 Comments

पहले आई. ए. एस. बनो (कहानी)

कमरा सिगरेट के धुएँ से भरा था। सुमित की आँखो से आँसू निकल रहे थे। सिगरेट को होंठों से लगाए वह हजार भावों को सिगरेट के धुएँ के रूप में बाहर निकाल रहा था। समय का यह पल उसे एक … विस्तार से पढ़ें

Posted in लिटरेचर लव | 4 Comments

दिल्ली का रामलीला मैदान : आंखों देखी

दिल्ली का रामलीला मैदान जहां पहुंचने का एक आसान साधन है दिल्ली मेट्रो। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन मेट्रो पर पहुंचते ही आंदोलन की आवाजें गूंज रही होती हैं।  रामलीला मैदान लिखे हुए तीर वाले बैनर पहली बार वहां लगाए गए … विस्तार से पढ़ें

Posted in पहला पन्ना | Leave a comment

बेच दो हिंदुस्तान को … (कविता)

आजाद हुई , हिन्दुस्तान की तस्वीर, बदल गई , नेताओं की तकदीर जाति – धर्म और संस्कृति के हुए ठेकेदार अनेक प्रजातंत्र में वोट के हकदार हुए प्रत्येत। बदल गई नेताओं की चाल हरदम उठाते हैं , चुनाव का सवाल, … विस्तार से पढ़ें

Posted in लिटरेचर लव | Leave a comment

अन्ना के नारों से गूंज रही है दिल्ली

अन्ना तु्म संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ हैं के नारों से दिल्ली गूंज रही है। ऐसा लग रहा है मानों आजादी की लड़ाई लड़ी जा रही है। युवाओं के हौसले आसमान छू रहे हैं। हाथों में तिरंगा लहरा रहा है … विस्तार से पढ़ें

Posted in हार्ड हिट | 2 Comments

प्रकाश झा का आरक्षण (फिल्म समीक्षा)

प्रकाश झा द्वारा निर्देशित फिल्म आरक्षण फिल्मी तौर तरीको में एक कमजोर कहानी और प्रस्तुति है , लेकिन जिन मुद्दों को छू कर इस फिल्म को प्रदर्शित किया गया है वे इस फिल्म की ताकत हैं। देश में आरक्षण की … विस्तार से पढ़ें

Posted in इन्फोटेन | Leave a comment

एक साक्षात्कार: गोविंद यादव,अध्यक्ष जदयू मध्य प्रदेश (भाग-1)

परिवर्तन और न्यायपूर्ण व्यवस्था  निर्माण का माध्यम है राजनीति : गोविंद जनता दल ( यूनाईटेड ) , मध्य प्रदेश ईकाई के अध्यक्ष गोविंद यादव आज समाजवादी विचारधारा के एक मजबूत विचारक और संधर्षशील योद्धा के रुप में अपनी पहचान के … विस्तार से पढ़ें

Posted in यंग तेवर | 1 Comment

प्यार से बिखरती जात की दुनिया

कहा जाता है कि भारत देश में जाति एक बङी सच्चाई है। भरतीय समाज का पूरा ताना – बाना जात के धागे से बुना गया है। पूरी जातीय व्यवस्था ऐतिहासिक नींव पर खङी है। एक बहुत ही मजबूत नींव। राजनीति … विस्तार से पढ़ें

Posted in यंग तेवर | 1 Comment

दलालों का अड्डा है विदेश मंत्रालय का विभाग

दिल्ली में पटियाला हाऊस कोर्ट स्थित विदेश मंत्रालय का विभाग दलालों का अड्डा बना हुआ है। इस विभाग में कागजातों के साथ पैसे उड़ रहे हैं। विदेश मंत्रालय के इस केंद्र पर देश के हर प्रांत से लोग आ कर … विस्तार से पढ़ें

Posted in रूट लेवल | Leave a comment