पानी डाट सेव द वाटर आंदोनल का आगाज

मित्रों!
 
सादर अभिवादन.

पानी हमारे जीवन की ज़रुरत है. हम सभी एक ऐसे युग की ओर बढ़ रहे हैं जो चुनौतीपूर्ण है. पानी उन सब चुनौतियों में सबसे बड़ी चुनौती के रूप में होगा. ऐसे में क्या हमें पानी पर  मिलजुलकर सजग होने की ज़रुरत है? निःसंदेह आप का ज़वाब हाँ होगा. इस समस्या से निपटने के लिए आप का सहयोग चाहते हैं. क्या आप मेरे साथ हैं? मैं आपको इस जल आन्दोलन में  आमंत्रित कर रहा हूँ. मैं शीघ्र ही एक पानी डाट सेव द वाटर- Pani.Save the Water” नामक

अभियान भारत वर्ष में शुरू करने जा रहा हूँ. आपकी क्या सलाह है? आप पानी के बारे में क्या सोचते हैं? हमें ज़रूर लिख भेजें.
 आपके असीम सुझाव और सहयोग की प्रतीक्षा है.


आपका
डॉ. कन्हैया त्रिपाठी


Dr. Kanhaiya Tripathi

Coordinator

Save The Water (Pani)

Mahatma Gandhi Antarrashtriya Hindi Viswavidyalaya

Wardha-442001 (MS)

India

Mo: 09765083470, 08010413078

Email: pani.savethewater@gmail.com or

hindswaraj2009@gmail.com, kanhaiyatripathi@yahoo.co.in

editor

About editor

सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।
This entry was posted in नोटिस बोर्ड. Bookmark the permalink.

3 Responses to पानी डाट सेव द वाटर आंदोनल का आगाज

  1. Dr. Kanhaiya Tripathi says:

    संपादक जी,
    नमस्कार.
    आप ने मेरे आंदोलन को अपने ब्लॉग पर प्रकाशित किया. शुक्रिया.
    आपके सभी मित्रों को धन्यवाद.
    पानी के लिए हम सभी भारतवासी को इस आंदोलन में जोड़ना चाहते हैं. हम पूरे भारत के लोगों से सुझाव चाहते हैं. आप पानी के बारे में और पानी बचाने के लिए क्या सोचते हैं, मुझे लिख भेजिए. आपके सुझाव मेरे लिए सहयोगी साबित होंगे.
    शुभ,
    डॉ. कन्हैया त्रिपाठी
    मो. 09765083470
    E-mail: pani.savethewater@gmail.com

  2. nilabh nayan says:

    रहिमन पानी राखिये , बिन पानी सब सून ।
    इस तरह के विचार के लिये धन्यबाद।

  3. Bharat hi nahi sampurn vishwa me pani ka sankat lagatar gahrata ja raha hai. jin kshetro me meethe pani ki bahulta hai, ve pani barbad kar rahe hai. faslo tatha janvaro ke liye pani ki trahi trahi machi hui hai . aane wale samay me jiske pas pani hoga wah bahut hi sukhi aur sampann hoga.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>