जनसमस्याओं पर राजद शुरु करेगा धरना, प्रदर्शन और जेल भरो अभियान

तेवरऑनलाईन, पटना

बिहार प्रदेश राष्ट्रीय जनता दल द्वारा जन सरोकार एवं बिहार की जनता से जुड़े समस्याओं के समाधान के लिए व्यापक संघर्ष के शंखनाद का निर्णय लिया गया है और पार्टी के जन समस्याओं के समाधान होने तक प्रखंड, जिला मुख्यालय से लेकर राज्य स्तर तक धरना, प्रदर्शन एवं जेल भरो अभियान का कार्यक्रम चलाया जायेगा।

जन समस्याओं से संबंधित हमारी मांग है कि:-

(1)     अच्छे दिन का वादा कर बढ़ती बेतहाशा मंहगाई पर रोकथाम हेतु आवश्यक कार्रवाई की जाय।

(2)     हर स्तर पर फैले भ्रष्टाचार को रोक कर व्याप्त भ्रष्टाचार से राहत दिलायी जाय।

(3)     खाद्य सुरक्षा कानून के तहत कार्ड से वंचित गरीबों को तुरंत कार्ड दिलाया जाय ताकि उन्हें सस्ते दर पर राशन-किरासन मिल सके।

(4)     बिना ए0पी0एल, बी0पी0एल0 का भेदभाव किये बिना वृद्ध, विधवा एवं विकलांग को कम से कम तीन हजार रूपये प्रतिमाह पेंशन का प्रबंध किया जाय।

(5)     न्यूनतम मजदूरी से वंचित किसानों-मजदूरों को राजगार गारंटी कानून के अधीन किसानों को खेती एवं मजदूरीं में सब्सिडी का प्रावधान हो।

(6)     हर टोले को पक्की सड़क से जोड़ा जाय, जीर्ण-शीर्ण सड़कों का तुरंत सुधार हो, अपूर्ण सड़के एवं पुल-पुलिया का अविलम्ब निर्माण हो तथा कार्य के गुणवŸाा की गारंटी हो।

(7)     हर घर में बिजली की व्यवस्था सुनिश्चित हो एवं छोटे एवं ट्रांसफरमर के बदले बड़ा ट्रांसफरमर लगाया जाय। साथ ही मनमाने बिजली बिल पर रोक लगाई जाय।

(8)     खाद की कालाबाजारी पर रोक लगाकर किसानों को शुद्ध खाद, बीज, कीटनाशक निर्धारित दर पर उपलब्ध करायी जाय।

(9)     किसानों के फसलों का लाभकारी मूल्य निर्धारण हो एवं मूल्य निर्धारण में किसानों का पूर्ण अधिकार हो। किसानों को बैंको से सूद रहित ऋण उपलब्ध कराया जाय।

(10)   पटना नगर निगम अंतर्गत मनमाने तरीके से उजाड़े जा रहे खटाल की वैकल्पिक व्यवस्था की जाय।

(11)   राज्यों में बन्द पड़े पशु स्वास्थ्य केन्द्र एवं गर्भाधान केन्द्र को चालू कराया जाय।

(12)   राज्य के सभी प्रखण्डो में कोल्ड स्टोरेज का निर्माण कराया जाय एवं जिन किसानों का आलू कोल्ड स्टोरेज में सड़ गया है उनके मुआवजा के भुगतान की व्यवस्था की जाय। सभी प्रखण्डों के क्रय केन्द्र खोला जाय।

(13)   राज्य को बाढ़, सुखाड़ एवं जलजमाव से निजात दिलाने की पक्की व्यवस्था की जाय।

(14)   बाढ़ आने के उपरान्त राहत कार्य में मनमाने ढंग से खर्च के बजाय समय रहते स्थायी मुकम्मल और कारगर व्यवस्था की जाय।

(15)   सभी प्रखंडो में सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों की शाखा स्थापित की जाय।

(16)   राज्य में बन्द पड़े सभी नलकूपों को चालू कराया जाय एवं उनकी विद्युत आपूर्Ÿिा सुनिश्चित की जाय।

(17)   पूर्व प्रधानमंत्री एवं किसान नेता स्व0 चैधरी चरण सिंह जी की आदमकद प्रतिमा, पटना में स्थापित की जाय।

(18)   किसान सम्मान योजना पुनः शुरू किया जाय।

(19)   राज्य में कृषि आधारित उद्योग की स्थापना की जाए और सिंगल विंडो सिस्टम लागू किया जाय।

(20)   बूढ़ी गंडक, बागमती, कोशी, गंडक, सोन नहर आधुनिकीकरण योजना, उदेरा स्थान, दुर्गावती, कदवन तथा पुनपुन जैसा अन्य सभी लंबित सिंचाई योजना को निर्धारित समय सीमा के अन्दर पूरी की जाय।

(21)   राज्य में चलायी जा रही केन्द्र प्रायोजित योजनाएं यथा राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा), राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, राष्ट्रीय बागवानी मिशन योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य योजना, इंदिरा आवास योजना, सर्व शिक्षा अभियान, वृद्धावस्था पेंशन योजना, पिछड़ा क्षेत्र विकास निधि, कुटीर ज्योति योजना, राष्ट्रीय संपूर्ण स्वच्छता अभियान, राष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन योजना जैसी कुल अंठावन योजनाओं में केन्द्र द्वारा हकमारी न कर राज्यों को नियमित भुगतान की व्यवस्था की जाय एवं लूट खसोट पर भी अंकुश लगाया जाय।

(22)   स्कूलो की कमी और पढ़ाई में सुधार हेतु स्कूल, काॅलेज में शिक्षकों की कमी को दूर करने, भवन विहीन एवं जीर्णशीर्ण भवन वाले विद्यालयों के भवनों को दुरूस्त कर हर विद्यालय में बिजली, पानी और शौचालय का प्रबंध कराया जाए।

(23)   नये अस्पतालों का निर्माण, अस्पतालों में डाॅक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों की कमी को दूर किया जाय।  मुजफ्फरपुर मेडिकल काॅलेज अस्पताल में बिस्तरों के अभाव को दूर कर उसे एम्स का दर्जा दिलाया जाय। इनसेफलाईटीस और कालाजार से मुक्ति हेतु उपाय हो।

(24)   दलितों और पिछड़े वर्ग के टोलो में पहुँचपथ का निर्माण हो जहाँ आने-जाने का रास्ता नहीं है।

(25)   शुद्ध पानी पीने और शौचालय की व्यवस्था घर-घर में हो। संपूर्ण स्वच्छता अभियान को बनाया जाए।

(26)   कानू, नोनिया, मल्लाह, कुम्हार, कहार, धानूक, तुरहा, नाई, गड़ेरिया, लोहार, बढ़ई, ततवा, ताँती आदि जातियों को उनकी महासंघ की मांग के अनुसार अनुसूचित जाति, जनजाति की सूची में एवं तेली जाति को अतिपिछड़ा की सूची में डाला जाय।

(27)   पंचायती राज के प्रतिनिधि, वार्ड सदस्य, पंच, सरपंच, पंचायत समिति व जिला परिषद् के सदस्य, मुखिया आदि को विŸाीय और प्रशासनिक अधिकार दिया जाय।

(28)   आशा, आंगनवाड़ी सेविका, सहायिका, किसान सलाहकार, नियोजित शिक्षक, किसान समन्वयक, टोला सेवक, सांख्यिकी स्वयं सेवक, पंचायत रोजगार सेवक, होमगार्ड, विकास मित्र, पे्ररक, गणनक, ग्राम डाक सेवक आदि की सेवा नियमित की जाय।

(29)   गिरती विधि व्यवस्था का सुधार हो और कमजोर वर्ग पर जोर जुल्म रूके।

(30)   मदिरालय नहीं पुस्तकालय, मधुशाला नहीं गोशाला और पाठशाला एवं शराब नहीं किताब का प्रबंध हो।

(31)   घोरपरास, बनैया सुअर आदि जंगली जानवरों से किसानों की फसलों की सुरक्षा हो और बर्बादी का मुआवजा मिले।

(32)   कब्रिस्तान की घेराबंदी, मदरसों की सहायता, सच्चर कमीशन और रंगनाथ मिश्र आयोग की अनुशंसायें लागू हो।

(33)   किसानों को खाद, बीज, ऋण, बिजली, कृषि बीमा का लाभ, प्रशिक्षण और कृषि कार्य हेतु सस्ता औजार मुहैया करायी जाए साथ ही फेलिन का बकाया मुआवजा और डीजल के अनुदान का बकाया भुगतान हो। बंद नलकूप चालू कराया जाए।

(34)   घर के लिए बिना जमीन वाले गरीब जहाँ-तहाँ बसे हैं उन्हें घर की जमीन नहीं रहने के कारण इन्दिरा आवास भी नहीं मिलता, उनके लिए और विस्थापितों के बसने के लिए जमीन का प्रबंध किया जाए।

उपरोक्त माँगों की आपूर्ति के लिए प्रखण्ड मुख्यालयों पर धरना के कार्यक्रम निम्नलिखित है-

काँटी प्रखण्ड मुख्यालय में  दिनांक 18.10.2014 शनिवार 11 बजे पूर्वाह्न

साहेबगंज प्रखण्ड मुख्यालय में    दिनांक 20.10.2014 सोमवार 11 बजे पूर्वाह्न

मीनापुर प्रखण्ड मुख्यालय में     दिनांक 22.10.2014 बुधवार 11 बजे पूर्वाह्न

सरैया प्रखण्ड मुख्यालय में दिनांक 03.11.2014 सोमवार 11 बजे पूर्वाह्न

पारू प्रखण्ड मुख्यालय में   दिनांक 08.11.2014 शनिवार 11 बजे पूर्वाह्न

मोतीपुर प्रखण्ड मुख्यालय में     दिनांक 10.11.2014 सोमवार 11 बजे पूर्वाह्न

मड़वन प्रखण्ड मुख्यालय में दिनांक 12.11.2014 बुधवार 11 बजे पूर्वाह्न

राज्य के बाकी प्रखंडो और जिला मुख्यालयों में धरना की तिथि शीघ्र ही सुनिश्चित की जायेगी।

इस अवसर पर संवाददाता सम्मेलन में राजद के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 रामचन्द्र पूर्वे राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री रामदेव भंडारी, प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक सिंह, प्रदेश प्रधान महासचिव मुन्द्रिका सिंह यादव, युवा राजद के प्रदेश अध्यक्ष श्री शिव चन्द्र राम, प्रवक्ता एजाज अहमद, शक्ति सिंह यादव, मनीष यादव, एकबाल मोहम्मद शमी, मृत्युंजय तिवारी, प्रदेश महासचिव, निराला यादव, बबन यादव, डाॅ0 पे्रम गुप्ता, खुर्शिद आलम सिद्दिकी, पी0के0 चैधरी, भाई अरूण सहित अन्य नेतागण उपस्थित थे।

This entry was posted in नोटिस बोर्ड. Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>