राकंपा में शामिल हुईं राजद की गीता चंद्रवंशी

तेवरऑनलाईन, पटना

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) में पार्टी के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष उदय सम्राट के समक्ष प्रदेश के अनेकों दूसरे दलों के नेता शामिल हुए एवं पार्टी का विलय किया। पार्टी में विलय करने वालों मे मुख्य रूप से चन्द्रवंशी संघर्ष मोर्चा के मुख्य सलाहकार एवं आवाम जनशक्ति मोर्चा के प्रदेश संयोजक श्री शैलेन्द्र प्रसाद, अधिवक्ता, अपने पूरे प्रदेश इकाई को राकांपा में विलय करते हुए राकांपा की सदस्यता ग्रहण किया, दूसरी तरफ राष्ट्रीय जनता दल महिला प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव श्रीमती गीता राज चन्द्रवंषी अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ राकांपा में शामिल हुई एवं सदस्यता ग्रहण की। पार्टी में शामिल होने वालों में इनलोगों के अलावा मुख्य रूप से सचिन्द्र कुमार, विजेन्द्र प्रसाद, सुशील प्रसाद, संदीप कुमार सिंह, राजीव कुमार, संजीव कुमार, सुनिल कुमार, वेद प्रकाश ठाकुर, अधिवक्ता मदन मोहन प्रसाद, मिथिलेश कुमार, शम्भुनाथ जी, विजय चंद्रवंशी, अजय चंद्रवंशी, संजय कुमार चंद्रवंशी एवं योगेन्द्र चंद्रवंशी शामिल है। इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष श्री उदय सम्राट ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार में आगामी 2015 विधान सभा आम चुनाव के मद्देनजर पार्टी की पूरी चेतना संगठन को मजबूत एवं धारदार बनाने हेतु केन्द्रित है। सम्राट ने दावे के साथ कहा कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की रथ पुरी तरह सज चुकी है पूरे प्रदेश में पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता युद्ध स्तर पर काम कर रहे है, हम राजनीति में दिलचस्पी रखने वाले लोगों, खासकर युवाओं को आह्वान करते है कि हमारी पार्टी स्वच्छ एवं सक्षम विकल्प देने के लिए पुरी मुस्तैदी से तैयार है। निश्चित तौर से आगामी विधान सभा चुनाव में हमारी पार्टी एक मजबूत एवं निर्णायक भूमिका में उभरेगी।

श्री सम्राट ने कहा कि आज बिहार की लोकतांत्रिक व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है, बिहार की पाक धरती अनेक घोटाले की दर्द से कराह रही है, जातीय हिंसा तेजी से अग्रसर हो रही है, महिलाएॅ हर जगह असुरक्षित है यहाॅ के लोगों की भावनाओं का हर दिन मजाक बनता है एक तरफ भाजपा एवं उनके सहयोगी दलों ने अपने चिरपरिचित अंदाज में लोगों को दिग्भ्रमित कर स्वीस बैंक में जमा कालाधन को वापस लाने एवं आमजनों में बांटने की बात कहकर देष की सत्ता पर काविज हो गई लेकिन सत्ता पाते ही अपना चरित्र का परिचय देते हुए मजबूरी का रोना रोकर अपने वायदे से मुकर गई। कालाधन लाने की बात तो दूर रही इनके मंत्रीमंडल में शामिल मंत्रियों में खुद कालाधन बनाने की जुग्गत में भीड़ गये जिसका ताजा उदाहरण एक दिन पूर्व प्रकाषित समाचार पत्रों से कुछ केन्द्रीय मंत्रियों के नाम सामने आये जिसमें वित मंत्री, रेल मंत्री एवं बिहार से केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुषवाहा चन्द ही दिनों में वेसुमार दौलत के मालिक बनने की ओर अग्रसर है। देखना दिलचस्प होगा कि हमारे प्रधान मंत्री इन मंत्रियों के खिलाफ किस तरह की जाॅच करवाकर कैसी कारवाई करते है? श्री सम्राट ने कहा कि इसी प्रकार कुछ माह पहले बिहार के परिवर्तित नये मुख्यमंत्री श्री जीतन राम मांझी दिन-रात महादलित होने का रोना रोते है एवं दूसरी तरफ महादलित महिला के साथ हुये सामूहिक दूष्कर्म पर सिर्फ खाना पूर्ति करते नजर आये कहीं से इनकी संजीदगी महादलितों के लिए नहीं दिखती, ऐसा प्रतित होता है कि ये भी बिहार के एक कद्दावर दलित नेता की तरह हाईप्रोफाईल बनने की होड़ में लगे हुये है, इनको बिहार की जनता एवं बिहार के विकास से कोई लेना देना नहीं है। हर दिन सिर्फ मीडिया के सूर्खियों में बने रहने के लिए पद की गरिमा के खिलाफ व्यानवाजी करते रहते है। श्री सम्राट ने कहा कि ऐसे गैर जिम्मेवार व्यक्ति को मुख्यमंत्री होना बिहार के लिए दूर्भाग्य है। श्री सम्राट ने आज चन्द्रवंशी संघर्ष मोर्चा एवं आवाम जनशक्ति मोर्चा को पार्टी में विलय करने वाले श्री शैलेन्द्र प्रसाद को पार्टी में तहे दिल से स्वागत करते हुए श्री प्रसाद को एक कर्मठ एवं चन्द्रवंशी समाज पर मजबूत पकड़ रखने वाला नेता बताया उनके साथ पार्टी में शामिल सहयोगी को भी दिल से स्वागत करते हुए कहा कि तमाम लोगांे को हमारी पार्टी पूरे मान-सम्मान के साथ जिम्मेवारी देगी किसी को भी पार्टी में उपेक्षित नहीं किया जायेगा। श्री सम्राट ने कहा कि इनलोगों को पार्टी में शामिल होने बिहार के तमाम अतिपिछड़े वर्ग के लोगों का झुकाव राकांपा की ओर बढ़ेगा और पार्टी बिहार में नये विकल्प बनने में निश्चित रूप से कामयाब होगी। संवाददाता सम्मेलन में मुख्य रूप से अनिल किशोर झा, मनोरंजन कुषवाहा, फैज अहमद मेहर, हेमन्त झा, शामिल थे।

This entry was posted in नोटिस बोर्ड. Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>