पटना में छठा नेशनल एक्यूसप्रेशर कांफ्रेंस संपन्न

नेशनल एक्यूमप्रेशर एसोसिएशन और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ अल्टरनेटिव मेडिसिन एंड रिसर्च सेंटर के तत्वाधान में छठा नेशनल कांफ्रेंस का आयोजन राष्ट्रीय कार्यालय महाराजा कामेश्वर कंपलेक्स कार्यालय में जूम एप्प के माध्यम से किया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन जनतांत्रिक विकास पार्टी के राष्ट्रीयय अध्यलक्ष अनिल कुमार द्वारा किया गया। इस दौरान उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि एक्यूप्रेशर समय की मांग है। इसकी उन्नति मानव समाज के लिए कल्यातणकारी होगा। इस नेशनल कांफ्रेंस में भारत के विभिन्न प्रातों से लेकर देश के बाहर यानी विदेश के लोग भी लाभान्वित हुए।

संस्था के विकास सिंह ने एक्यूप्रेशर चिकित्सा पद्धति की एकता की बात कही और बताया‍ कि इसे जन- जन तक पहुंचाने का कार्य एसोशिएसन लगातार करता रहेगा। संस्था सचिव डॉ. प्रिया प्रियदर्शनी ने बताया कि कोरोना काल में हम लोगों ने बड़े ही सावधानी के साथ छठा कांफ्रेंस का आयोजन किया। कांफ्रेंस का मुख्य उद्देश्य कोरोना काल में लोगों को हीलिंग कर मोरल बूस्ट किया जा सके। लोगों ने कार्यक्रम में एक्यूप्रेशरएस्पाइन चिकित्सा की क्षमता को समझा। इस अवसर पर भोपाल से डॉ. पंकज जैन, दिल्ली से भूपिंदर कौर ने कांफ्रेंस से जुड़े लोगों को शरीर, मन, ,जीवन मूल ऊर्जा के बारे में बताया।

editor

About editor

सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।
This entry was posted in पहला पन्ना. Bookmark the permalink.

Comments are closed.