चुनावी दंगल में उतरने की तैयारी में कांग्रेस, शक्ति सिंह गोहिल ने की मैराथन मीटिंग

पटना। बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के चुनाव समिति और अभियान समिति की बैठकें कांग्रेस  कार्यालय सदाकत आश्रम में हुई। इसकी अध्यक्षता अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने की। बैठक में अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, एम.पी., अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सचिव बीरेन्द्र सिंह राठौर, कांग्रेस विधान मण्डल दल के नेता सदानन्द सिंह, प्रदेश कांग्रेस अभियान समिति के अध्यक्ष डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह एम. पी., पूर्व केन्द्रीय मंत्री तारिक अनवर, पूर्व राज्यपाल निखिल कुमार एवं अन्य वरिष्ठ कांग्रेस नेता उपस्थित थे।

बैठक में लिये गये निर्णयों की जानकारी देते हुए प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मीडिया विभाग के अध्यक्ष एच.के. वर्मा ने बताया कि सर्वप्रथम चुनाव समिति के सभी सदस्यों ने लद्दाख के गलवान घाटी  में चीनी सेना के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए देश के बीस जवानों जिसमें पाँच बिहार के शहीद जवान थे की स्मृति में दो मिनट का मौन रखकर उनको श्रद्धाँजलि दी गई।

इसके बाद निर्णय लिया गया कि प्रदेश चुनाव समिति  के प्रत्येक सदस्य एक-एक जिले का दौरा करेंगे एवं प्रत्येक दिन दो प्रखण्डों का दौरा कर वहाँ के कांग्रेस कार्यकर्ताओं से संवाद स्थापित कर पार्टी संगठन की स्थिति की समीक्षाकर उसकी रिपोर्ट एवं कांग्रेस के डीजिटल सदस्यता अभियान के बारे में कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित कर उसकी भी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस प्रभारी को सौंपनी है।

साथ ही जिला में विधानसभा की कितनी सीट है, वर्तमान विधायक किस दल का और कौन है तथा विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के किस कार्यकर्ता की मजबूत स्थिति है तथा इन सीटों पर कम-से-कम दो और ज्यादा से ज्यादा 5 सीटों पर क्रमानुसार गोपनीय रिपोर्ट देनी है।

जिले के सभी प्रखंडों का दौरा कर अन्त में जिला स्तर पर एक पत्रकार वार्ता करनी है जिसमें केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार की विफलता, प्रवासी मजदूरों की परेशानी, किसानों की समस्या, शिक्षा, रोजगार, कानून व्यवस्था जैसे स्थानीय मुद्दों और शहीद जवानों की शहादत पर प्रमुख रूप से उठाना है। साथ ही कांग्रेस पार्टी के सकारात्मक मुद्दों एवं जिले की समस्याओं पर भी चर्चा करनी है।

चुनाव समिति की बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने शक्तिसिंह गोहिल के राज्यसभा सदस्य चुने जाने पर कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गाँधी एवं राहुल गाँधी को धन्यवाद दिया। इस आशय का सर्वसम्मति से बैठक में प्रस्ताव पास किया गया।

कांग्रेस विधान मण्डल दल के नेता सदानन्द सिंह ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमें अपनी पिछले लोकसभा चुनाव में महागठबन्धन के घटक दलों के बीच हुए समझौते से सबक लेते हुए इसबार कांग्रेस को सम्मान जनक सीटों पर समझौता करना चाहिये। बैठक में बिहार प्रभारी शक्तिसिंह गोहिल ने भी कहा कि इसबार कांग्रेस पार्टी सम्मान जनक सीटों पर ही समझौता करेगी। उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि बिहार में अभी वातावरण जनता दल(यू)-भाजपा सरकार के खिलाफ है और हमें गाँव-गाँव जाकर लोगों को इस बारे में जानकारी देनी है।

बैठक को अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी के सचिव बीरेन्द्र सिंह राठौर, प्रदेश कांग्रेस अभियान समिति के अध्यक्ष डा. अखिलेश प्रसाद सिंह एम.पी., पूर्व केन्द्रीय मंत्री तारिक अनवर, पूर्व राज्यपाल निखिल कुमार, प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डा. अशोक कुमार, श्याम सुन्दर सिंह धीरज, प्रदेश कांग्रेस कमिटी के पूर्व अध्यक्ष अनिल कुमार शर्मा, चन्दन बागची, अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सचिव डा. चन्दन यादव, डा. शकील अहमद खान, प्रेमचन्द्र मिश्र एम.एल.सी., पूर्व मंत्री अवधेश कुमार सिंह, रामदेव राय, कृपानाथ पाठक, विजय शंकर दूबे, डा. ज्योति, अर्जुन मण्डल, राजेश कुमार, पूनम पासवान, प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष अमिता भूषण, युवा कांग्रेस अध्यक्ष गुंजन पटेल, छात्र संगठन के प्रदेश अध्यक्ष चुन्नू सिंह, सेवादल के मुख्यसंगठक रामानन्द सिंह एवं प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष एच.के. वर्मा, कैलाश पाल ने भी अपने बहुमूल्य सुझाव दिये।

बैठक के प्रारम्भ में कांग्रेस पार्टी के नेशनल एक्जक्यूटिभ कमिटी के सदस्य राजेश ग्रिग गिलानी ने चुनाव समिति के सदस्यों को डिजिटल सदस्यता अभियान के बारे में विडियो से विस्तृत डिमोन्सट्रेशन दिखाया।

editor

About editor

सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।
This entry was posted in पहला पन्ना. Bookmark the permalink.

Comments are closed.