दूसरा नैलीताल फिल्म फेस्टिवल

24 से 26 सितंबर, 2010

शैले हाल, नैनीताल क्लब, मल्लीताल, नैनीताल,

उत्तराखंड
गिर्दा और निर्मल पांडे की याद में युगमंच और द ग्रुप, जन संस्कृति मंच द्वारा आयोजित

प्रमुख आकर्षण

फीचर फिल्म:

दायें या बायें (निर्देशिका: बेला नेगी), खरगोश(निर्देशक: परेश कामदार), छुटकन की महाभारत (निर्देशक: संकल्प मेश्राम)

डाक्यूमेंटरी:

वसुधा जोशी की फिल्मों पर ख़ास फोकस ( फिल्में : अल्मोडियाना, फॉर माया, वायसेस फ्राम बालियापाल)जश्ने आज़ादी (निर्देशक: संजय काक), कित्ते मिल वे माह़ी (निर्देशक: अजय भारद्वाज ), फ्राम हिन्दु टू हिन्दुत्व (निर्देशक: देबरंजन सारंगी ), आई वंडर ( निर्देशिका: अनुपमा श्रीनिवासन ), अँधेरे से पहले (निर्देशक: अजय टी जी ) और मेकर्स ऑफ़ दुर्गा (निर्देशक: राजीव कुमार).

अन्य आकर्षण :

प्रयाग जोशी का सम्मान, बी मोहन नेगी के चित्रों और कविता पोस्टरों की प्रदर्शनी, अफ्रीका के जन जीवन पर पत्रकार राजेश जोशी का व्याख्यान -प्रदर्शन, युगमंच के बाल कलाकारों द्वारा लघु नाटक, तरुण भारतीय और के मार्क स्वेअर द्वारा संयोजित म्यूजिक विडियो का गुलदस्ता, लघु फिल्मों का पैकेज,फिल्मकारों के साथ सीधा संवाद और फैज़, शमशेर बहादुर सिंह, नागार्जुन, केदारनाथ अग्रवाल, अज्ञेय और गिर्दा की कविताओं के पोस्टरों का लोकार्पण .

ख़ास बात: यह आयोजन पूरी तरह निशुल्क है. फिल्म फेस्टिवल में प्रवेश के लिए किसी भी तरह के औपचारिक आमंत्रण की जरुरत नहीं है।

संपर्क:

ज़हूर आलम ,

संयोजक , दूसरा नैनीताल फिल्म फेस्टिवल

इन्तखाब, मल्लीबाज़ार, मल्लीताल, नैनीताल, उत्तराखंड

फ़ोन: 09412983164, 05942- 237674

संजय जोशी,

फेस्टिवल निदेशक, दूसरा नैनीताल फिल्म फेस्टिवल C-303 जनसत्ता अपार्टमेंट्स , सेक्टर 9, वसुंधरा

गाज़ियाबाद , उत्तर प्रदेश -201012

फ़ोन: 09811577426, 0120-4108090

editor

About editor

सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।
This entry was posted in नोटिस बोर्ड. Bookmark the permalink.

2 Responses to दूसरा नैलीताल फिल्म फेस्टिवल

  1. Ajay Shastri says:

    Hello Sir,
    Good work for film industries development in north india. we are with you always.

    Regards,
    Ajay Shastri
    President
    “NIFTDA”
    North Indian Film & Television Development Association, Delhi
    # 09350859564
    Email: niftda@gmail.com, niftda@yahoo.com

  2. Nicki Minaj says:

    With all the doggone snow we have had as of late I am stuck indoors, fortunately there is the internet, thanks for giving me something to do. :)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>