उत्तर भारत में फिल्म उद्योग के विकास के लिए “नार्थ इंडियन फिल्म एवं टेलीविजन डेवलपमेंन्ट एसोसिएशन” सक्रिय

23
19
अजय शास्त्री
अजय शास्त्री

तेवरआनलाईन, नई दिल्ली

उत्तर भारत में फिल्म उद्योग के विकास को लेकर प्रयास कर रहे निर्माता-निर्देशक अजय शास्त्री के नेतृत्व में “नार्थ इंडियन फिल्म एवं टेलीविजन डेवलपमेंन्ट एसोसिएशन” (NIFTDA) का निर्माण कर, कार्य शुरु कर दिया गया है। एसोसिएशन का मुख्य उद्देश्य  फिल्म उद्योग में कार्यरत लोगों को शोषण और अत्याचार से बचाना और जो लोग फिल्मकर्मियों का शोषण कर रहे हैं उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करना, फिल्मों की पायरेसी को रोकना और उत्तर भारत में एक बेहतर फिल्म उद्योग का निर्माण करना है। पंजीकृत लोग भी यदि गलत कार्यों में लिप्त होंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।   

“नार्थ इंडियन फिल्म एवं टेलीविजन डवलपमेंन्ट एसोसिएशन” (NIFTDA) द्वारा उत्तर भारत के कई शहरों व कस्बों में अवैध रूप से चल रहे फर्जी डाँस, म्यूजिक, एक्टिंग स्कूल व इंस्टीटयूट और अवैध रूप से फिल्मों का निर्माण कर रहे निर्माता-निर्देशकों का सर्वे किया जा रहा है। उत्तर भारत में बहुत से ऐसे लोग हैं जिनके पास कोई रजिस्ट्रेशन नहीं है, मगर वे धडल्ले से कार्य कर रहें हैं और बच्चों को झूठे प्रलोभन देकर खूब पैसा लूट रहें हैं तथा कलाकारों की जिंदगी से खिलवाड़ करके फिल्म उद्योग का नाम बदनाम कर रहें हैं। यही वजह है कि सही रूप से कार्य कर रही फिल्म कंपनियां आज दिवालिया होने के कगार पर हैं।

“नार्थ इंडियन फिल्म एवं टेलीविजन डवलपमेंन्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष व निर्माता-निर्देशक अजय शास्त्री ने यह निवेदन किया है कि अवैध रूप से चलाये जा रहे फर्जी डाँस, म्यूजिक व एक्टिंग स्कूल और इंस्टीटयूट के संचालक तथा अवैध रूप से फिल्मों का निर्माण कर रहे निर्माता-निर्देशक एक महीने के अन्दर अपना रजिस्ट्रेशन तुरन्त करवाऐं। ऐसा न करने पर प्रशासनिक एवं कानूनी कार्रवाई करने पर एसोसिएशन को मजबूर हो जाएगा। एसोसिएशन फिल्म उद्योग का विकास करने के लिए बनाई गई है। किसी भी शूटिंग के दौरान एसोसिएशन कानूनी तरीके से शूटिंग स्थल पर छापा मार सकती है। शूटिंग स्थल पर सभी कार्यकर्ताओं के पास एशोसिएशन के कागजात होना जरूरी है। कागजात पूरे न पाये जाने पर एसोसिशन कम से कम जुर्माना भी कर सकती है। जुर्माना न दिये पर सजा भी हो सकती है।

“नार्थ इंडियन फिल्म एवं टेलीविजन डवलपमेंन्ट एसोसिएशन द्वारा अपने प्रत्येक सदस्य को अनेकों प्रकार की सुविधाऐं दी जा रही हैं, जैसे, मेडिकल चेकअप, एम्बूलैंस सुविधा, बीमा सुविधा, नाम व पते के साथ डायेक्टरी, सेंसर से प्रोजेक्ट पास कराने की सुविधा एवं निर्माता अपने बैनर का रजिस्ट्रेशन व टाईटल का रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं, साथ ही निर्देशक, लेखक, गीतकार, गायक, संगीतकार, कैंमरामेन, कोरियोग्राफर, कलाकार, माडल, मेकअप मैन आदि फिल्म उद्योग से संबंधित सभी लोग एसोसिएशन के सदस्य बनकर सदस्यता का लाभ उठा सकते हैं।

इससे पहले अजय शास्त्री फिल्म व म्यूजिक एलबम की पायरेटेड सीडी व फर्जी निर्माता- निर्देशकों पर अनुशासनात्मक व प्रशासनिक कार्रवाई कर चुके है, जिससे काफी हद तक इसका फायदा फिल्म उद्योग को हुआ है, क्योंकि ये लोग फिल्म की आड़ में अय्याशी कर रहे थे। कुछ लोग अभी भी कानून की पकड़ से बाहर हैं, लेकिन उन पर प्रशासन की नजर गड़ी हुई है।

एसोसिएशन द्वारा यह सूचना प्रत्येक राज्य के मुख्यमंत्री एवं प्रत्येक जिले के जिलाधिकारी एवं प्रत्येक अखबार को दे दी गई है।

यह प्रेस विज्ञप्ति एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय शास्त्री के नेतृत्व में सचिव अल्पना तलवार, उपाध्यक्ष महेष चौधरी, सहसचिव भूपेंन्द्र पंवार, कोषाध्यक्ष राज सिंह, सहसचिव बख्शीश सिंह की सहमति से जारी की गई है। इस संबंध में विशेष जानकारी के लिए अजय शास्त्री से 9350859564 पर संपर्क कर सकते हैं।

Previous articleमीडिया को भोंपू की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं माओवादी
Next articleजो सुनायेगा दिखायेगा,वही बच पायेगा
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

23 COMMENTS

  1. good! very very good, I want a good film industries in north india.
    I’m agree with you and your massage. Mr. Ajay Shastri
    Your,
    Raj

  2. Hello Shastri Ji, Namaskar,
    Jo kaam Aap Kar Rahe ho wo kaam ab se pahle hona chahiye tha, magar koi baat nahi,
    kam se kam aapne shuru to kiya, hum aapke saath hen, hum hae tarah se aapka saath dengen. hamare ilake me hum aapke sipahi banengen, hum aapke saath jud kar kaam karengen.
    aapka Bhupender Panwar
    Muzaffar Nagar (U.P.)

  3. shastri ji, namaskar
    hume achchha laga ki hamari dilli me bhi filmi association ban gayi he. hum bhi aapke saath judna chahte he. hum aapse jaldi hi contact karenge.
    dhanyawad

    arun
    meerut

  4. sir, aap bahut achchha kam kar rahe ho, hamare layak koi kaam ho to hame batana, hum bhi kuchh karna chahte he.
    Kamaljot Singh
    Amritsar, Pnjab

  5. Hello Sir, Me Artist hu, mujhe apnaartist ka card banvana he, to mujhe kya karna hoga,

    Shalini
    Saharanpur, Uttar Pradesh

  6. Hello Sir, Me Artist hu, mujhe apnaartist ka card banvana he, to mujhe kya karna hoga,

    Shiva
    Saharanpur, Uttar Pradesh

  7. Sir, Aapne ye achchha kiya ki jis kaam ke liye hame bombey jana padta tha ab dilhi me hi ho jayega, you are great man sir,

    Thakyou Sir,
    Rahul Jain
    Actor
    Delhi.
    Mob. 09268790291

  8. Hello Sir, Aapne ye achchha kiya ki jis kaam ke liye hame bombey jana padta tha ab dilhi me hi ho jayega, you are great man sir,

    Thakyou Sir,
    Rahul Jain
    Actor
    Delhi.
    Mob. 09268790291

  9. Hello Sir, maine ek film banayi he, mujhe usko censor kara kar ke release karani he, aap mujhe batayen mujhe aage kya karn hoga. aur Producer ka card bhi banwana he.

    Amit Kumar
    Producer
    Meerut

  10. sir, meerut me bhi ek association he jo card issue kar rahi he, agar hum us association se card banvalete he to, kya vah valid hoga.

  11. Sir, me artist hun, mujhe apna artist ka card banvana he, mujhe kya karna hoga, please tall me. aur fee kitani he

  12. Sir, Namskar, apne to uttar bharat me film jagat ko chamkane ke liye ek nai chingari bhadka di he. ye sahi bhi he, log mumbai jate aur vahan jillat ki jindagi jite he, logo ko samajhna chahiye ki jo mumbai ke log kar rahe hen, vo kaam hum bhi kar sakte hen, aur aap ne kar dikhaya, sir aap hamare liye raj kapoor ji se kam nahi ho sir, sir hame hi rasta dikhao.

    vishnu
    Haridwar, Uttrakhand

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here