धारावाहिक ‘कभी तो मिल के सब बोलो’ ‘अब डेली सोप’ के रूप में

0
18

राजू बोहरा, नयी दिल्ली//

दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल डीडी नेशनल पर प्राइम टाइम में इन दिनों कई लोक प्रिय धारावाहिक प्रसारित हो रहे हैं जिनमें से एक है कभी तो मिल के सब बोलोहर गुरुवार और शुक्रवार रात साढ़े आठ बजे दिखाए जानेवाले इस दिलचस्प धारावाहिक की लोकप्रियता का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैकि अब इसे दूरदर्शन डेलीसोप के रूप में एक नए समय पर सोमवार से शुक्रवार दोपहर 2.30 बजे लेकर आया है। प्राइमटाइममें 52 एपिसोड का शानदार प्रसारण पूरा करने के बाद अब 28 दिसम्बर से इसका प्रसारण दोपहर को डेलीसोप के रूप में शुरू है और एक सप्ताह के प्रसारण के बाद ही दूरदर्शन पर आफटरनून में प्रसारित होने छह लोकप्रिय डेलीसोप में नम्बर शो हो गया है। ग्रामीण पृष्ठभूमि पर आधारित यह सामाजिक धारावाहिक तेजी से बदलते भारतीय ग्रामीण जनमानस की शानदार तस्वीर पेश करता है।

कभी तो मिल के सब बोलोग्रामीण पंचायती राज व्यवस्था, भ्रष्टाचार और ग्रामीण राजनीति जैसे मुद्दों को उठाने वाले इस धारावाहिकका निर्माण श्री सत्यसाईं फिल्म्स के बैनर तले अभिनेता से निर्माता बने करण आनंद कर रहे हैं जो यशराज फिल्म्स की आदित्य चोपड़ा द्वारा निर्मित आनेवाली चर्चित गुंड ’’ में रणवीर सिंह, अर्जुन कपूर, प्रियंका चोपड़ा और इरफान खान जैसे चर्चित स्टारों के साथ बतौर अभिनेता नजर आयेंगे। डीडी के इस लोकप्रिय डेलीसोप का निर्देशन विजय के सैनी कर रहे हैं जो धीरज कुमार द्वारा निर्मित सहारा वन के डेली चर्चित शो नियति’ का भी निर्देशन कर रहे है। धारावाहिक का शीर्षक गीत मशहूर गीतकार निदा फाजली ने लिखा है जिसे अमर हल्दीपुर के संगीत निर्देशन में स्वर्गीय गजल सम्राट जगजीत सिंह ने गाया है।

धारावाहिक में मुख्य किरदारों को राजेश विवेक, साधना सिंह, सुधीर दलवीं, ज्ञान प्रकाश, करन आनंद, गीतांजलि मिश्रा, अनीता कुलकर्णी, अशोक बांठिया, और पंकज झा, गीतांजलि मिश्रा जैसे चर्चित कलाकार निभा रहे हैं। अपने इस धारावाहिक की सफलता को लेकर इसके मुख्य अभिनेता व निर्माता करन आनंद बेहद उत्साहित हैं, वह कहते है यह शायद दूरदर्शन का पहला ऐसा शो है जो साप्ताहिक से डेलीसोप के रूप में दिखाया जा रहा है।कभी तो मिल के सब बोलोकी कहानी उत्तर प्रदेश इलाहाबाद के शहर व एक गांव के इर्दगिर्द बुनी गई है इसलिये इसकी शूटिंग इलाहाबाद में भी की गयी थी है। कुल मिलाकर यह धारावाहिक बेहद दिलचस्प विषय को उजागर करता है।

Previous articleआंदोलनों का गर्भपातगाह बना हुआ है दिल्ली!
Next articleआज मैंने एक सपना देखा …(कविता)
लेखक पिछले सोलह वर्षो से बतौर फ्रीलांसर फिल्म- टीवी पत्रकारिता कर रहे हैं और देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों तथा पत्रिकाओ में इनके रिपोर्ट और आलेख निरंतर प्रकाशित हो रहे हैं,साथ ही देश के कई प्रमुख समाचार-पत्रिकाओं के नियमित स्तंभकार रह चुके है,पत्रकारिता के अलावा ये बातौर प्रोड्यूसर धारावाहिकों के निर्माण में भी सक्रिय हैं। आपके द्वारा निर्मित एक कॉमेडी धारावाहिक ''इश्क मैं लुट गए यार'' दूरदर्शन के ''डी डी उर्दू चैनल'' कई बार प्रसारित हो चूका है। संपर्क - journalistrajubohra@gmail.com मोबाइल -09350824380

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here