पूरब व पश्चिम की संस्कृति को दर्शाता है धारावाहिक इम्तिहान

0
23

राजू बोहरा, नई दिल्ली

प्राइवेट चैनल्स के इस धारावाहिक दौर में भी भारतीय टेलीविजन के दर्शको के लिए चैनल साफ सुथरे धारावाहिक प्रस्तुत कर रहा है तो वो है सरकार द्वारा संचालित दूरदर्शन। यही मुख्य वजह है कि आज के इस आधुनिक युग में लोगो के लिए मनोरंजन का सबसे सशक्त माध्यम दूरदर्शन ही है जो लगातार पारिवारिक विषय वाले सामाजिक धारावाहिक शालीनता से दिखा रहा है। दूरदर्शन के धारावाहिक आज भी दर्शको को मनोरंजन के साथ-साथ कुछ न कुछ सामाजिक संदेश अवश्य देते है। दूरदर्शन पर एक ऐसा ही साथ-सुथरा पारिवारिक नया धारावाहिक इम्तिहान शुरू हुआ है जो हर सप्ताह बुधवार और गुरूवार को रात 10.30 बजे दिखाया जा रहा है।

दूरदर्शन का यह नया धारावाहिक इम्तिहान पूरब और पश्चिम दो विभिन्न संस्कृति को केन्द्रª में रखकर बनाया गया एक साफ-सुथरा गंभीर धारावाहिक है। इम्तिहान में एक ऐसे परिवार की कहानी को प्रस्तुत किया गया है जो कनाडा में जा बसा है और इस परिवार के मुखिया को वर्षों वहा रहकर भी भारतीय संस्कृति व सभ्यता से बेहद लगाव है और वो पश्चिमी संस्कृति के मुकाबले पूरब की संस्कृति को ही ज्यादा अच्छा मानता है। दूरदर्शन के लिए इस दिलचस्प धारावाहिक का निर्माण स्टे्टस एयर विजन के बैनर तले निर्मात्री सुशीला भाटिया कर रही है जो इससे पूर्व दूरदर्शन के लिए ही बसेरा और विवाह बंधन जैसे चर्चित धारावाहिक बना चुकी है। धारावाहिक इम्तिहान में कनाडा में बसे परिवार के मुखिया की भूमिका मशहूर फिल्म टीवी अभिनेता राजीव वर्मा निभा रहे है जबकि उनकी पत्नी की भुमिका में निशिगंधा वाड है। रोहिनी हटंगडी इसमे दादी मां की भूमिका में है। इम्तिहान की अन्य कास्ट में मुग्धा शाह, आम्रपाली गुप्ता, गिरिश जैन और अनु श्री पाठला आदि कलाकार शामिल है।

अपने इस धारावाहिक के बारे में निर्मात्री सुशील भाटिया का कहना है कि इसकी कहानी में हमने दो विभिन्न कल्चर को दिखाया है जिनके अपने प्लस और मायनस प्वाइंटस होते हैं और दोनों ही अपनी जगह सही है। दो संस्कृतियो के पाटने मं फंसे लोग किस तरह अपना रास्ता निकालते है यह भी इसमें दर्शाया गया है। साथ ही इसमें यह संदेश भी शामिल किया गया है कि अभिभावको कों बच्चों पर ज्यादा पाबंदिया नहीं लगानी चाहिये क्योंकि कई बार ज्यादा रोक टोक के चलते उनमें विद्रोह की भावना पनपने लगती है और वो अपनी मनमर्जी करने पर भी उतारू हो जाते है। धारावाहिक इम्तिहान की कुछ शुटिंग कनाडा की खुबसुरत लोकेशन पर भी की गई है। यह धारावाहिक दर्शकों में तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। दूरदर्शन का यह धारावाहिक इम्तिहान दर्शकों को भरपूर मनोरंजन के साथ-साथ कई सामाजिक संदेश भी प्रदान करता है जो आप के दौर में कम ही धारावाहिकों में नजर आता है।

Previous articleअमरकथा शिल्पी फणीश्वरनाथ रेणु की आदमकद प्रतिमा का अनावरण
Next articleअच्छा लगता है….(कविता)
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here