मुंगेर में वरीय पदाधिकारियों के आदेश की उड़ाई गयी धज्जियां

0
108

आठ माह बाद भी आरोपित एचएम लक्ष्मी प्रसाद मोदी पर नहीं हुआ एफआईआर दर्ज

लालमोहन महाराज, मुंगेर

सूबे में एक ओर जहां भ्रष्ट पदाधिकारियों व कर्मियों पर लगाम लगाने के लिए वर्तमान सरकार तत्परता से कम कर रही है।वहीं दूसरी ओर मुंगेर प्रमंडल अंतर्गत जमुई डीएम के द्वारा विगत वर्ष 13 मई को आरोपित एक एच एम लक्ष्मी प्रसाद मोदी के विरुद्ध आठ माह बीत जाने के बाद भी एफआईआर दर्ज कराने के आदेश को दरकिनार करते हुए शिक्षा विभाग ने उचित कार्रवाई को ठेंगा दिखाने का काम किया है।

जमुई के तत्कालीन डीएम वर्तमान समय में अवनीश कुमार सिंह मुंगेर में डीएम के पद पर पदस्थापित हैं। समाहरणालय जमुई के गोपनीय शाखा से निर्गत पत्रांक 38-1/23-785/गो0 के तहत पत्र प्रेषित कर तत्कालीन डीएम अवनीश कुमार सिंह के द्वारा जमुई के जिला शिक्षा पदाधिकारी कपिल देव तिवारी को कहा गया कि बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ जमुई गोप गुट के जिलाध्यक्ष धर्म चंदन रजक ,सचिव अनिल कुमार सिंह के आवेदन पत्र विषय पर इस कार्यालय के पत्रांक 586 /गो0 15 -4- 2022 का निदेश किया जाए, जिसके द्वारा आयुक्त मुंगेर प्रमंडल मुंगेर के पत्रांक 2235 दिनांक 12 -4 -2023 के क्रम में कार्यपालक दंडाधिकारी अनुमंडल कार्यालय जमुई के प्रतिवेदन के आलोक में मध्य विद्यालय चकाई के प्रधानाध्यापक लक्ष्मी प्रसाद मोदी के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए एक सप्ताह के अंदर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया था।


जमुई के तत्कालीन डीएम अवनीश कुमार सिंह ने अपने पत्र के हवाले से कहा था कि वांंछित प्रतिवेदन अब तक अप्राप्त है, जो अत्यंत खेद जनक है ।
तत्कालीन डीएम ने पत्र के माध्यम से कहा कि इसी मामले से संबंधित आयुक्त मुंगेर प्रमंडल मुंगेर के पत्रांक 3101 दिनांक 11 मई 2013 तथा बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ गोप गुट जमुई के जिलाध्यक्ष के पत्रांक 05 दिनांक 10 मई 2013 की सानुलग्नक छाया प्रतियां भी आवश्यक कार्रवाई हेतु संकलन करते हुए निर्देश दिया जाता है कि कार्यपालक दंडाधिकारी अनुमंडल कार्यालय जमुई के प्रतिवेदन के आलोक में कार्य हित में मध्य विद्यालय चकाई के प्रधानाध्यापक लक्ष्मी प्रसाद मोदी का स्थानांतरण करते हुए इनके द्वारा की गई गंभीर अनियमितता तथा सेवानिवृत शिक्षक सुल्तान अहमद को दोहरी भुगतान के मामले में नियमानुसार प्राथमिकी दर्ज कराया जाए एवं विभागीय कार्रवाई की जाए तथा इससे संबंधित प्रतिवेदन एक सप्ताह के अंदर उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए । दुर्भाग्यवश आठ माह बीत गए, लेकिन अभी तक आरोपित पर एफआईआर दर्ज नहीं करा कर शिक्षा विभाग ने वरीय पदाधिकारियों के आदेश की धज्जियां उड़ाने का काम किया है ।
वही इस संबंध में मुंगेर प्रमंडल के क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक शुभ्रो सन्याल ने कहा कि इस संबंध में उन्हें कोई लिखित सूचना अब तक नहीं मिली है। हालांकि क्षेत्रिय शिक्षा उपनिदेशक के द्वारा अभी तक उचित कार्रवाई नहीं किए जाने की बात को सुनने के बाद जमुई के जिला शिक्षा पदाधिकारी कपिल देव तिवारी ने कहा कि आरोपित का वेतन वृद्धि काटा गया है। ट्रांसफर कर डी डी ओ का पावर भी सीज किया गया है।31 जनवरी को आरोपित एचएम रिटायर्ड होने वाला है।, डी पी ओ स्थापना जांच कर रहे हैं । उचित कार्रवाई के अलावा रिकवरी भी की जाएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here