28 C
Patna
Thursday, June 30, 2022
Home Authors Posts by editor

editor

982 POSTS 13 COMMENTS
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

के के श्रीवास्तव पूर्व मध्य रेल के नये महाप्रबंधक

1
केके श्रीवास्तव को पूर्व मध्य रेल का नया महाप्रबंधक नियुक्त किया गया है। 1975 बैच के भारतीय रेलवे यातायात सेवा आईआरटीएस के अधिकारी श्री...

भगत सिंह विचार मंच की स्थापना

0
तेवरआनलाईन, कोलकाता विद्यार्थियों के बीच शहीद-ए-आज़म भगत सिंह के विचारों को फैलाने के लिए भगतसिंह विचार मंच की स्थापना की गई है। शहीद-ए-आज़म भगतसिंह की...

प्रत्येक साल एक पेड़ जरूर लगाएं : आर. के अग्रवाल

1
तेवरआनलाईन, हाजीपुर वैदिक साहित्य में एक वृक्ष को सौ पुत्रों के बराबर माना गया है। पर्यावरण की रक्षा के लिए भी वृक्षारोपण जरुरी है। इसीलिए...

मजदूरों को चूसता हिंडाल्को व दुम हिलाते पत्रकार

0
शिवदास एशिया की सबसे बड़ी एल्युमीनियम उत्पादक कंपनी हिंडाल्को का कहर संविदा श्रमिकों पर निरंतर जारी है। कंपनी के जुर्म से आजीज आकर रेणकूट इकाई...

नक्सल मूवमेंट को टटोलने की कोशिश (पुस्तक समीक्षा)

13
वी. राज बाबुल, नई दिल्ली नक्सल मूवमेंट के कई अनछुये पहलुओं से रू-ब-रू होने का मौका कम ही मिलता है। अखबार में छपे कई शब्द...

खुद बीमार है पटना आयुर्वेदिक कालेज अस्पताल

1
बुनियादी सुविधाओं के लिए मरीजों ने मानवाधिकार आयोग से गुहार लगाई प्रियरंजन कुमार “राही”, पटना बिहार में चिकित्सा के नाम पर एक ओर निजी क्लिनिक वाले...

कहीं डायनासोर की तरह विलुप्त न हो जाये हाथी मेरे साथी

6
नीतीश कुमार, पटना वर्षों पहले हाथी मेरे साथी नामक एक फिल्म काफी पॉपुलर हुई थी। इसमें आदमी और हाथी की दोस्ती की कहानी कही गई...

छल-कपट व वंशवाद में बिखर गये जेपी के सपने

2
अविनाश नंदन शर्मा, नई दिल्ली बदलती भारतीय राजनीति की तस्वीर में कांग्रेस का उत्थान पतन भी अपने आप में अजीबो गरीब कहानी है। वास्तव में...

आवाम को क्या लाभ हुआ अयोध्या पचड़े से ???

1
इलाहाबाद हाईकोर्ट लखनऊ पीठ ने अयोध्या मसले पर अपना निर्णय दिया है। पिछले 6 दशक से यह मामला चल रहा था। इसके कई रंग...

रेखा की बगावत के बाद पूरे गांव में बाल विवाह पर...

3
नीतीश कुमार, पटना पिछले वर्ष पुरुलिया ज़िले की 12 वर्षीय बीड़ी मजदूर रेखा कालिंदी ने शादी से इंकार कर अनेक लड़कियों को रास्ता दिखाया और...