17 C
Patna
Wednesday, February 1, 2023
Home जर्नलिज्म वर्ल्ड

जर्नलिज्म वर्ल्ड

राहें कब आसान थी !

0
अनिता गौतम बिहार की राजनीति इन दिनों दो धुरी के इर्दगिर्द घूम रही है। एक ओर केंद्र में मोदी के नेतृत्व में काबिज होने के...

काटजू के बयान पर बिहार सरकार की बौखलाहट

0
हर हमेशा विवादों में रहने वाले और अपने नीतीश विरोधी बयानों की बजह से जस्टिस काटजू पिछले कई दफा बिहार की मीडिया के लिए...

नीतीश एक त्यागी, तपस्वी और विराट मानव बन सकते थे...

0
वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश अखिल अपने फेसबुक के वाल पेपर पर नीतीश कुमार से मुत्तालिक टिप्पणी किये हैं। और यह बता रहे हैं कैसे वह...

कांग्रेस विरोधी फुटेज चलाने की औकात नहीं है एड से अघाये...

4
एक कैमरा मैन का खोपड़ी सनका हुआ था, हाथ में कैसेट लेकर गुस्से से बुदबुदा रहा था, इस कैसेट में टिकट बंटवारे को लेकर...

अम्बेडकर : “शिक्षित बनो, संगठित रहो, संघर्ष करो !!!”.

0
सतीश आर्या// 1948 से, अम्बेडकर मधुमेह से पीड़ित थे। जून से अक्टूबर 1954 तक वो बहुत बीमार रहे इस दौरान वो नैदानिक अवसाद और कमजोर...

नीतीश सरकार के स्पोक्समैन की भूमिका में एक वरिष्ठ पत्रकार

1
मुकेश कुमार सिन्हा, पटना बिहार में चुनावी बयार तेज हो चुका है, ऐसे में हवा का रुख देखकर फटाफट नेता अपनी पार्टी बदल रहे हैं।...