38 C
Patna
Monday, April 22, 2024

भूल गए हम एक पत्रकार,कवि और आजादी के दिवाने को

0
आशुतोष कुमार पांडेय, मुजफ्फरपुर वैसे भूलने की संस्कृति हमारी पुरानी रही है। कल तक प्रभाष जोशी साथ थे, आलोक तोमर थे। लेकिन कब तक। हम...

प्रेस कांउसिल के समक्ष मीडियाकर्मियों के सवाल

3
प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मार्कण्डेय काटजू बिहार की सुशासन सरकार पर हमला बोलकर कइ दफा चर्चा में रहे हैं। मीडिया से लेकर...

विषय: लोकतंत्र के चौथे खंभे (पत्रकारिता) को सूचना के अधिकार के...

1
मीडिया के संदर्भों से जूझते हुये  अफ़रोज़ आलम साहिल का यह पत्र मिला है, जिसे हू-ब-हू पोस्ट कर रहे हैं। अपने विचार देने के लिए...

आंदोलनों का गर्भपातगाह बना हुआ है दिल्ली!

0
पिछले कुछ अरसे से दिल्ली आंदोलनों का गर्भपातगाह बना हुआ   है। पहले अन्ना आंदोलन, फिर बाबा रामदेव का आंदोलन, फिर अरविंद केजरीवाल का आंदोलन,...

सोनभद्र सूचना विभाग का फर्जीवाड़ा

0
शिव दास. जिला सूचना विभाग, सोनभद्र जनपद में कार्यरत पत्रकारों और मीडियाकर्मियों के बारे में अधिकारियों और जनता को भ्रामक जानकारी मुहैया करा रहा है। इसके पीछे...

राहुल गांधी : अमूल बेबी या कांग्रेस के अभिमन्यु ?

1
भाजपा ने कभी राहुल गांधी को अमूल बेबी कहा था। कांग्रेस द्वारा मिशन 2014 के लिए कांग्रेस समन्वय समिति का अध्यक्ष बनाये जाने के...

सुरेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर कूड़ा परोसता एक पत्रकारिता संस्थान

4
तेवरआनलाईन, पटना बिहार में पत्रकारों की लंबी चौड़ी फौज पहले से ही सरकार की अर्दली बनी हुई है। यहां के तमाम अखबार नीतीश के गुणगान...