कर्पूरी ठाकुर की पुण्य तिथि पर पसमांदा महाज का सम्मेलन

ऑल इंडिया पसमांदा मुस्लिम महाज ने सभी मुसलमानों को किसी भी तरह के आरक्षण के मांग का विरोध करते हुए कहा है कि बिहार में लागू कर्पूरी ठाकुर के आरक्षण फार्मूले को राष्ट्रीय स्तर पर लागू किया जाये. महाज ने रविवार को कर्पूरी ठाकुर की पच्चीसवीं पुण्य तिथि के अवसर पर पटना में “सियासत और पसमांदा मुसलमान” विषय पर एक सम्मेलन का आयोजन किया.

इस अवसर पर पटना हाईकोर्ट के अधिवक्ता वसंत चौधरी, वंचित मोर्चा के अध्यक्ष किशोरी दास, सामाजिक कार्यकर्ता अशोक यादव के अलावा महाज के महासचिव उसमान हलाल खोर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष इर्शादुल हक प्रदेश अध्यक्ष हिशामुद्दीन व संगठन सचिव हसनैन अंसारी के अलावा हाफिज इमामुद्दीन अंसारी ने भी अपने विचार रखे.

महाज के उपाध्यक्ष इर्शादुल हक ने कहा कि धर्म के नाम के आधार पर पसमांदा महाज किसी भी आरक्षण का विरोध करता है, और भारत का धर्मनिरपेक्ष संविधान इसकी अनुमति भी नहीं देता इस लिए बिहार में लागू आरक्षण के कर्पूरी फार्मूले को देश भर में लागू किया जाना चाहिए. इस अवसर पर पटना हाई कोर्ट के वरिष्ठ अधिवकता वसंत चौधरी व सामाजिक कार्यकर्ता अशोक यादव ने महाज की मांग की जोरदार वकालत करते हुए कहा कि पसमांदा मुस्लिम समाज की उपेक्षा खत्म होनी चाहिए. महाज के महासचिव उसमान हलालखोर ने पसमांदा आंदोलन को मजबूत करने की मांग की. वहीं मंच संचालन करते हुए हिशामुद्दीन अंसारी ने कहा कि महाज राज्य भर में सामाजिक जागरूकता अभियान को तेज करने का कार्यक्रम बना रहा है. इस अवसर पर वंचित मोर्चा के अध्यक्ष किशोरी दास ने सभी समुदायों के पिछड़े, अतिपिछड़े और दलित समाज का महामंच बना कर संघर्ष को तेज करने का सुझाव दिया.

इससे पहले सम्मेलन में आये लोगों ने पूर्व मुख्यमंत्री और समाजिक न्याय के पुरोधा कर्पूरी ठाकुर को श्रद्धांजलि दी

This entry was posted in इन्फोटेन. Bookmark the permalink.

One Response to कर्पूरी ठाकुर की पुण्य तिथि पर पसमांदा महाज का सम्मेलन

  1. rajesh verma says:

    u r great writer…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>