खटाल उजाड़े जाने के खिलाफ प्रदर्शन

0
18

तेवरऑनलाईन, पटना. बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए पटना से खटाल उजाड़े जाने के खिलाफ रविवार को राष्ट्रीय जनता दल एवं खटाल बचाओ संघर्ष समिति की ओर से रोषपूर्ण विशाल प्रदर्शन किया गया। गाँधी मैदान के निकट जेपी गोलम्बर से पशुओं के साथ निकले इस विशाल प्रदर्शन में हजारों की संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। गाजे-बाजे के साथ प्रदर्शन में भारी संख्या में पशुपालकों ने हिस्सा लिया। ‘किसी सूरत में पटना से खटाल उजड़ने नहीं देंगे’ जैसे नारे लगते रहे। राजद प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे के नेतृत्व में निकले जुलूस में सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव, पूर्व सांसद आलोक मेहता, राजनीति प्रसाद, पार्टी के प्रधान महासचिव  मुन्द्रिका सिंह यादव, पूर्व मंत्री अशोक कुमार सिंह, विधायक अब्दुल गफूर, पूर्व विधायक एवं युवा राजद के प्रदेश अध्यक्ष शिवचन्द्र राम, विनोद कुमार यादवेंदु, रेयाजुल हक राजु, रामानुज प्रसाद, नन्दकिशोर राम, खटाल बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक बबन यादव, प्रदेश उपाध्यक्ष तनवीर हसन, सीताराम अकेला, प्रदेश महासचिव एवं प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव, एजाज अहमद, डाॅ0 अशोक सिन्हा, प्रवक्ता मनीष यादव, इकबाल समी, अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष प्रगति मेहता, पंचायती राज के अध्यक्ष सुरेन्द्र प्रसाद, शिक्षक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष प्रो0 रामाशीष सिंह, प्रदेश महासचिव निराला यादव, दानी प्रजापति, सनोज यादव, प्रेम गुप्ता, प्रो0 रामबली चन्द्रवंशी, पी0के0 चैधरी, नन्दु यादव, राजेश पाल, बिरजु पटेल, डाॅ0 अनवर आलम, राजकिशोर प्रसाद, बल्ली यादव, मुनश्वर यादव, भाई अरूण, डा. कुमार राहुल सिंह, संजय यादव, रामजी व्यास पासवान, अर्जुन यादव, रामाशंकर यादव, पटना जिलाध्यक्ष देवमुनी सिंह यादव, पटना महानगर अध्यक्ष महताब आलम, पटना जिला अल्पसंख्यक अध्यक्ष रेयाज अहमद, जिलाध्यक्ष जमुई अशोक राम, गया के राधेश्याम प्रसाद, नालन्दा के हुमायु अख्तर तारिक, बक्सर के शेषनाथ यादव, भोजपुर के लताफत हुसैन, कैमुर के अजीमुद्दीन अंसारी, शेखपुरा के राजनीति प्रसाद सिंह, सहरसा के मोहम्मद ताहिर, पार्टी नेता क्षत्रधारी यादव, लाल बहादुर शास्त्री, युगल किशोर राय, अभिराम पासवान, ऋषि यादव, सुदय यादव सहित अन्य नेतागण उपस्थित थे।

डाकबंगला, स्टेशन रोड होते हुए जुलूस आर0ब्लाॅक पहुंचकर सभा में तब्दील हो गया। सभा को सम्बोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे ने कहा कि जो पशुपालक अपनी जमीन पर भी खटाल चला रहे हैं, उसे भी उजाड़ा जा रहा है, जो गलत है। उन्होंने सरकार से तुरंत इस मामले में हस्तक्षेप कर जोर-जुल्म बंद कराने की मांग की। प्रधान महासचिव मुन्द्रिका सिंह यादव ने कहा कि राजद किसी पर भी जोर-जुल्म नहीं होने देगा। यहां पशुपालकों के साथ अन्याय हो रहा है। ऐसे में राजद चुप नहीं बैठ सकता है। इस मुद्दे पर पहले भी प्रदर्शन हुए थे। आज इस मुद्दे को लेकर राजद का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी से भी मिला। प्रतिनिधि मंडल ने सात सुत्री मांगो से सम्बंधित स्मार पत्र सौंपा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here