गाँधी जी की विचारधारा पर धारावाहिक “एक किरण रोशनी की”

1
14

राजू बोहरा, नई दिल्ली

आज के इस आधुनिक युग में भी फिल्में और धारावाहिक लोगों के मनोरंजन का सबसे सशक्त माध्यम है। इसीलिए फिल्मों और धारावाहिकों को समाज का आईना कहा जाता है। फिल्मों के मुक़ाबले आज टी.वी. धारावाहिकों की पहुँच ज्यादा है। क्योंकि आज सिनेमाहाल जाकर लोग भले ही फिल्में देखने के लिय समय नहीं निकाल पाते हों, मगर टी.वी. धारावाहिक हर घर में देखे जाते हैं, जिनका सरोकार सीधे दर्शकों से होता है। बशर्त है कि पहले की तरह आज भी अच्छे मनोरंजक और सामाजिक धारावाहिकों का निर्माण हो। काम्पीटीशन के इस दौर में भी दूरदर्शन ही एक मात्र ऐसा चैनल है जो शालीनता से ऐसे धारावाहिक प्रस्तुत कर रहा है जो लोगों को मनोरंजन के साथ-साथ कुछ ना कुछ समाजिक संदेश भी देते है। डाक्टर चंद्रप्रकाश द्विवेदी के मेगा धारावाहिक  ”उपनिषद गंगा”  के बाद अब दूरदर्शन एक और नया दिलचस्प धारावाहिक “एक किरण रोशनी की” लेकर आ रहा है, जिसका प्रसारण 14 अप्रैल से प्राईम टाईम में हर शुक्रवार और शनिवार रात 9 बजे किया जायेगा। एस. एम. आर. इंटरटेनमैंट के बैनर तले बन रहे इस महिला प्रधान धारावाहिक से एक ख़ास बात यह जुड़ी है कि यह धारावाहिक गांधीजी की विचारधारा को उजागार करता है।

धारावाहिक एक किरण रोशनी की एक ऐसी हौसलामंद लड़की रोशनी की कहानी पर केन्द्रित है जो गांधी जी की विचारधारा के माध्यम से आज के पूरी तरह आधुनिकता के रंग में रंग चुके समाज में पुनः जागृति लाने का प्रयास करती है। हालांकि इसके लिए उसे काँटों भरा संघर्ष भी करना पड़ता है। दूरदर्शन के लिए इस धारावाहिक का निर्माण अश्वनी सिडवानी कर रहीं है और निर्देशन की जिम्मेदारी अब्बास गजधर ने संभाली है। जबकि इसके लेखक है सुप्रसिद्व हास्य कवि हुल्लड़ मुरादाबादी के सुपुत्र नवनीत हुल्लड़ मुरादाबादी। यह एक लड़की के संघर्ष, साहस और सफलता की कहानी पर आधारित है। धारावाहिक इस धारावाहिक में कई फिल्मों और टेलीविजन के चर्चित कलाकार अभिनय कर रहे हैं, जिनमें अपने ज़माने की मशहूर फिल्म अभिनेत्री ज़रीना वहाब, वरिष्ठ चरित्र अभिनेता अंनग देसाई, शीना बजाज जो नायिका की मुख्य भूमिका निभा रहीं हैं। इनके अलावा सुप्रित रैना, पकंज बैरी, तनुश्री कौशिक, सीमा तांबे, नवनीत हुल्लड़ मुरादाबादी, सोनम अरोड़ा, कैनाज़, ऐजे़ल रैना और राजश्री रानी आदि कलाकार भी अहम भूमिकाएं भी निभा रहे हैं।

निर्मात्री अश्वनी सिडवानी अपने इस धारावाहिक को लेकर खासी उत्साहित हैं। उनका कहना है कि गांधीजी की विचारधारा को केंद्र में रखकर इस तरह का धारावाहिक अभी तक किसी टी.वी चैनल पर नहीं बना है। यह प्रयास हमने किया है और हमें पूरी-पूरी उम्मीद है कि लोगों को यह धारावाहिक अवश्य ही पंसद आयेगा। इसमें हमने सुप्रसिद्व कवि हुल्लड़ मुरादाबादी के दोहों को भी संदेश प्रदरूप में शामिल किया है। कुल मिलाकर एक किरण रोशनी की दर्शकों को भरपूर मनोरंजन करने के साथ-साथ दूरदर्शन के लाखों करोड़ों दर्शकों को कई सामाजिक संदेश भी प्रदान करेगा। वो भी गांधीजी की विचारधारा के माध्यम से।  इस धारावाहिक को संगीत से सजाया है बालीवुड के मशहूर फिल्म संगीतकार रविन्द्र जैन ने ।

Previous articleनये रंगभाषा की तालाश में दलित-आदिवासी रंगमंच
Next article“रजनी की लग गयी” में नजर आएंगी खुशी शर्मा
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here