प्रिया शुक्ला के प्रथम हिन्दी काव्य संग्रह “प्रियाशा की उड़ान” का शानदार विमोचन

0
6

राजू बोहरा @ तेवरऑनलाइन डॉटकॉम,नई दिल्ली

अंतरराष्ट्रीय साहित्य कला संगम साहित्योदय पर प्रिया शुक्ला की पुस्तक प्रियाशा की उड़ान का ऑनलाइन लोकार्पण हुआ जिसमें दुनियाभर के कई गणमान्य हस्तिया आनलाइन ही शामिल हुई। मूलरूप से कानपूर उत्तर प्रदेश की रहने वाली प्रिया शुक्ला जो कि वर्तमान में मनीला फिलीपींस विदेश में रहती हैं और परदेश में रहकर भी हिन्दी साहित्य की सेवा में लगातार तत्पर है। गत सप्ताह प्रिया शुक्ला के प्रथम हिन्दी पुस्तक काव्य संग्रह “प्रियाशा की उड़ान” का आनलाइन शानदार विमोचन हुआ, जिसमे देश-विदेश के तमाम प्रतिष्ठित साहित्कारो-लेखको और कवियों ने आनलाइन ही शिरकत की।

 प्रिया शुक्ला ने अपनी प्रथम पुस्तक का विमोचन अपने माता पिता और अपने सास ससुर के हाथों से करवाया। इसी बात से सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि वो विदेश में रहकर भी अपने भारतीय कल्चर से कैसे समर्पित है। साहित्योदय के संस्थापक पंकज प्रियम की अध्यक्षता में अयोजिय कार्यक्रम का कुशल संचालन दोहा कतार में रहने वाली स्मृति त्रिवेदी ने किया। कार्यक्रम में कई जाने माने कवियों ने शिरकत की। अजय अंजाम ने अपने विचारों से सभी को भाव विभोर किया।

नमिता पांडे, तृप्ति मिश्रा, अनुपम कौरा मिठास और अतुल अविरल ने शुभकामना संदेश पढ़े। साथ ही दैनिक ‘’नव भारत’’ नागपुर से वरिष्ठ सम्पादक चैतन्य मिश्र एवं कहानी जंक्शन प्रकाशन के संस्थापक अनिल गर्ग विशिष्ठ अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। प्रिया शुक्ला के कई मित्र देश विदेश से जुड़े और अपने शुभकामना संदेशों से उनका हौसला बढ़ाया जिसमें, तोरल मेहता फिलीपींस,अदिति मलेशिया से, नेहा मनीला से, अनुपमा, निशु और रिचा भारत से जुड़े।

ईमेल journalistrajubohra@gmail.com

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here