भाग मिल्खा भाग” का फिल्मांकन मैलबर्न में होगा

0
24

राजू बोहरा, नई दिल्ली

भारत के महानतम खिलाड़ियों में से एक पर आधारित, बालीवुड की एक नई फिल्म के कुछ प्रमुख दृश्यों को मैलबर्न में फिल्माया जाएगा, प्रीमियर आफ विक्टोरिया तथा मिनिस्टर फार द आर्ट्स टैड बैलियु ने ये घोषणा की।

भाग मिल्खा भाग (रन मिल्खा रन) नामक इस फिल्म में प्रख्यात भारतीय धावक मिल्खा सिंह की दास्तान बयान की जा रही है जिन्हें ‘फ्लाइंग सिक्ख’ कहा जाता था, उन्होंने जिन 80 अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया, उनमें से 77 दौड़ें जीतीं।  मिल्खा सिंह ने सबसे पहले 1956 के मैलबर्न ओलंपिक्स में भारत का प्रतिनिधित्व किया, यहां वे पहली बार दुनिया के सामने आए और उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय धावक के तौर पर अपना करियर शुरू किया।

श्री बैलियु ने कहा ‘भारत दुनिया में फिल्म निर्माण से जुड़े सबसे व्यस्त गंतव्यों में से एक है और इसकी लगातार फैलती फिल्म इंडस्ट्री विक्टोरियन को-प्राडक्शन प्राजैक्ट्स के लिए जबर्दस्त अवसर उपलब्ध कराती है और हम क्रिएटिव आर्ट्स में अपनी विशेषज्ञता का लाभ यहां ले पाएंगे।’

‘विक्टोरिया एक प्रख्यात फिल्म निर्माण गंतव्य के रूप में पहचान हासिल करता जा रहा है, यहां हमारे पास विश्वस्तरीय स्टूडियो सुविधाएं हैं, जैसे कि डाकलैंड्स फिल्म एंड टेलीविजन स्टूडियोज।’

भाग मिल्खा भाग का निर्देशन भारत के एक बेहद जाने-माने फिल्म निर्माता ओमप्रकाश मेहरा करेंगे और इसका निर्माण आर ओ एम पी तथा वियाकाम 18 इंडिया मिलकर करेंगे। फिल्म में भारत के दो बेहद नामी फिल्म स्टार अभिनय करेंगे। ये हैं बहुमुखी प्रतिभा के धनी फरहान अख्तर और प्रसिद्ध स्टाइलिश अभिनेत्री सोनम कपूर।

मिस्टर बैलियु ने कहा कि मैलबर्न में शूटिंग की अवधि दो से तीन सप्ताह के बीच रहेगी जिससे स्थानीय आर्थिक गतिविधि के रूप में लगभग 10 लाख डालर अर्जित होंगे।

‘मैलबर्न में कुछ अन्य भारतीय फिल्मों की शूटिंग भी हुई है जैसे कि सलाम नमस्ते और चक दे! इंडिया। उन्हीं की तरह भाग मिल्खा भाग भी भारत में हमारी साख को और बेहतर बनाएगी और विक्टोरिया को एक शानदार पर्यटन गंतव्य के तौर पर प्रदर्शित करेगी।’

मिस्टर बैलियु ने आगे कहा ‘टूरिज्म विक्टोरिया इस फिल्म की रिलीज भारत में एक मार्केटिंग अभियान के जरिये शुरू करेगा और इसमें फिल्म से ली गई कुछ प्रमुख लोकेशनों को दिखाया जाएगा।’

मिस्टर बैलियु ने कहा कि फिल्म विक्टोरिया ने विक्टोरिया में फिल्म की शूटिंग के लिए भाग मिल्खा भाग के निर्माताओं के साथ निकटता से काम किया और महत्वपूर्ण लोकेशन तथा निर्माण से जुड़ी सेवाएं उपलब्ध कराईं।

श्री बैलियु का कहना था ‘फिल्म विक्टोरिया इस प्राडक्शन को अपनी मदद जारी रखेगा, वह मैलबर्न में इसकी शूटिंग के दौरान फिल्म और लोकेशन संबंधी सेवाएं मुहैया कराएगा।’

मिस्टर बैलियु का ये भी कहना था कि विक्टोरियाई सरकार के ट्रेड एंगेजमैंट प्रोग्राम – इंडिया के भाग के रूप में विक्टोरिया और भारत के बीच फिल्म उद्योग से संबंधित रिश्ते मजबूत हो रहे हैं।

‘हमने 2012, 2013 और 2014 में एक भारतीय फिल्म फैस्टिवल मैलबर्न में कराने के लिए 5 लाख डालर देने का वचन दिया है, युवा विक्टोरियन निर्देशकों और निर्माताओं के लिए भारत की यात्रा हेतु फैलोशिप शुरू की जा रही हैं और एक जाने-माने भारतीय फिल्म एम्बैसडर को भी नियुक्त किया जाएगा।’

‘मिस्टर बेल्यु ने आगे अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा हमने एक विक्टोरिया-इंडिया को-प्राडक्शन पहल पर भी दस्तखत किए हैं जिसके तहत विक्टोरिया के दस लोग भारत की प्रख्यात मीडिया और एंटरटेनमैंट इंडस्ट्री कन्वैंशन, फिकी फ्रेम्स में हिस्सा लेने आएंगे, जो मुम्बई में है और भारतीय प्राडक्शन इकाइयों के साथ संयुक्त उपक्रम में 3 तक विक्टोरियन स्क्रीन कम्पनियों को अपना समर्थन देंगे।’

‘हमारी सरकार विक्टोरिया को एक ऐसी जगह के तौर पर बढ़ावा देना चाहती है जिसके पास फिल्म निर्माण के सिलसिले में जरूरी महारतें और बुनियादी सुविधाएं हैं और जहां फिल्म निर्माताओं को ऐसे बहुत से लोग मिल सकते हैं जो कई भाषाएं बोल सकते हैं और जिनमें सांस्कृतिक समझ मौजूद है।’

मिस्टर बैलियु ने आगे कहा कि मिल्खा सिंह की कहानी प्रेरणाप्रद है और मैलबर्न के साथ इसके मजबूत रिश्ते कला के क्षेत्र में भारत के साथ विक्टोरिया के रिश्तों को और आगे बढ़ाने के लिए एक बेहतरीन अवसर मुहैया कराते हैं।

विक्टोरिया का प्रमुख घटनाओं वाला कैलैंडर दुनिया का सबसे जाना-माना और कामयाब, प्रमुख घटनाओं वाला कैलैंडर है। 2009 में स्पोर्ट बिजनैस स्पोर्ट्स इवैंट मैनेजमैंट अवार्ड्स में इसे ‘बैस्ट स्पोर्ट्स सिटी’ घोषित किया गया है।

मिस्टर बैलियु ने दिल्ली में भाग मिल्खा भाग के डायरैक्ट राकेश ओमप्रकाश मेहरा, वियाकाम 18 मोशन पिक्चर्स के सी ओ ओ विक्रम मल्होत्रा और माइंड ब्लोइंग फिल्म्स, डायरैक्टर मितु भौमिक की उपस्थिति में ये घोषणा की। मितु भौमिक विक्टोरियन लाइन प्राड्यूसर हैं। मिस्टर बैलियु भारत आए सुपर ट्रेड मिशन का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, यह आस्ट्रेलिया से भारत आया अब तक का सबसे बड़ा ट्रेड मिशन है जिसमें विक्टोरिया के 200 से भी अधिक जाने-माने संगठन शामिल हैं।

Previous articleसुशासन बाबू की तसवीर के लिए खतरे की घंटी है यह
Next articleबाइट, प्लीज ( उपन्यास, भाग-4)
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here