21 C
Patna
Sunday, December 5, 2021
Home जर्नलिज्म वर्ल्ड

जर्नलिज्म वर्ल्ड

पत्रकारिता ब्रतकथा- (भाग 1)

0
आशुतोष जार्ज मुस्तफा (भौतिकता और अंधी आधुनिकता की इस अंधी दौर में ईश्वर की गलती से पैदा हुआ एक संवेदनशील इंसान)          पत्रकारिता ब्रतकथा              कैसे चंद पैसों...

बिहार की राजनीती में गठबंधन और मान-मनौव्वल

0
विनायक विजेता, वरिष्ठ पत्रकार. * नरेन्द्र मोदी को बिहार में चुनाव प्रचार न करने का फेक सकते हैं पासा *  इस शर्त पर गठबंधन में हो...

जागरण के प्रसार विभाग में बड़े घोटाले की जांच शुरू

2
राकेश शर्मा, हरियाणा दोस्तों जागरण में फर्जीवाड़े से शेयर धारकों के हिस्से को गोलमाल करने में यदि प्रबंधन बोर्ड के सदस्य पीछे नहीं हैं तो...

कांग्रेस विरोधी फुटेज चलाने की औकात नहीं है एड से अघाये...

4
एक कैमरा मैन का खोपड़ी सनका हुआ था, हाथ में कैसेट लेकर गुस्से से बुदबुदा रहा था, इस कैसेट में टिकट बंटवारे को लेकर...

गांवों और कस्बों में घुट रही है पत्रकारिता

2
  शिवदास आप हर रोज अपने बेडरूम में खिड़कियों और दरवाजों के झरोखों से आती सूरज की किरणों के बीच आंखें खोलते हैं, तो पहले आपको...

“निमंत्रण” विकास संवाद का पांचवा मीडिया विमर्श

1
12, 13 और 14 मार्च 2011 सूखे में समाज, विकास संवाद का पांचवा मीडिया विमर्श बदलावकारी संवाद और सघन हस्तक्षेप के जरिये विकास संवाद कोशिश करता...

प्रेस कांउसिल के समक्ष मीडियाकर्मियों के सवाल

3
प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मार्कण्डेय काटजू बिहार की सुशासन सरकार पर हमला बोलकर कइ दफा चर्चा में रहे हैं। मीडिया से लेकर...

तो आमीन अदम गोंडवी, आमीन !

दयानंद पांडेय, क्या आदमी इतना कृतघ्न हो गया है ? खास कर हिंदी लेखक नाम का आदमी। इस में हिंदी पत्रकारों को भी जोड़ सकते...

तर्कसंगत है जस्टिस काटजू की टिप्पणी

0
अनुराग मिश्र// कल भारतीय प्रेस परिषद् के अध्यक्ष मार्केंडेय काटजू ने कहा कि देश के 90 फीसदी भारतीय मूर्ख हैं। जिस पर देश की मीडिया...