कोरोना काल में सबसे ज्यादा बिहार सरकार असफल रही है: राहुल गांधी

0
39

पटना। अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने कहा कि बिहार कांग्रेस का बड़ा स्वर्णिम इतिहास रहा है। भारत में सभी बड़े बदलाव की शुरूआत बिहार से ही होती है। उन्होंने कहा यह आज की बात नहीं है हजारों साल से चली आ रही है, स्वतंत्रता आंदोलन की शुरूआत भी गांधी जी ने पश्चिमी चम्पारण से की थी। किसी भी अत्याचार, नफरत, भ्रष्टाचार एवं क्रोध के खिलाफ लड़ाई की शुरूआत बिहार की धरती से ही होती है। आज के संदर्भ में यह काम बिहार में कांग्रेस ही कर सकती है। यह काम मिलकर करना होगा एक दूसरे की इज्जत और प्रतिष्ठा का ख्याल रखते हुये सारी विपक्षी ताकतों को एक साथ एक मंच पर लाने का काम कांग्रेस का है।

उन्होंने कहा कि हमने फरवरी में कोरोना सुनामी की चेतावनी दी थी, आज आप देख रहे हैं कि कोराना के मामले में हम विश्वगुरू बनने जा रहे हैं। आज फिर मैं कह रहा हूँ कि बिहार एवं पूरा भारत आने वाले छः महिने, साल भर के अंदर इससे भी बड़ा तूफान का सामना करने जा रहा है, वह है बेरोजगारी का, डूबती अर्थ व्यवस्था का। इसका कारण यह है कि मोदी ने और आरएसएस ने मिलकर हमारी संस्थागत ढाँचों को ध्वस्त कर दिया है जिसे कांग्रेस ने बनाया था। पूरे भारत में आज संवैधानिक ढाँचे ध्वस्त हो चुके हैं। हमारी युवा शक्ति जाया होगी। पर यह देश फिर खड़ा होना जानती है। ढाँचा, रोजगार, अर्थ व्यवस्था को फिर खड़ा हो सकता है लेकिन प्यार से नफरत से नहीं और यह काम सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है।

उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री झूठ बोलते हैं, हमारे सैनिकों के बलिदान का भी उनको ख्याल नहीं है। कहते हैं चाइना भारत की जमीन पर नहीं घुसा है? यह कह कर हमारे बिहार रेजिमेंट के मारे गये 20 सैनिकों का यह अपमान ही तो कर रहे हैं। सीमा पर संकट के समय बिहार रेजिमेंट आगे बढ़कर दुश्मनों से लोहा लेता है। प्रधानमंत्री मोदी  का पोल खुल चुका है उनके ही रक्षा मंत्रालय ने इस बात की पुष्टी कर दी की चाइना हमारी जमीन के अंदर घुसा है। मैंने जब यह सुना कि चाइना ने हमारा हमीन हड़प लिया और हमारे बीस जवानों को शहीद कर लिया तो गुस्से से मेरा खून खौल गया।

हम यहाँ यह भी बताना चाह रहे हैं कि सुशासन की बात करने वाले हमारे मुख्य मंत्री, विकास की बात करने वाले मुख्यमंत्री आज चुप क्यों हैं, उनकी जनता त्राहिमाम कर रही है। उनकी निष्क्रियता जग जाहिर हो चुकी है। आज हम यहाँ यह कहना चाहते हैं कि अगली सरकार बिहार में हमारी होगी। हम मिलजुल कर सरकार बनायेंगे। बदलाव अब बिहार से शुरू होगा। हमारे मुख्य मुद्दे हैं रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य। रोजगार बड़े एवं लघु उद्योगों से मिलेगा। बिहार की शक्ति को फिर से संजोना पड़ेगा। प्यार और इज्जत से सहयोगी बनाना होगा और मिलकर निर्णय लेना होगा।

उन्होंने बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल एवं प्रदेश अध्यक्ष को यह निर्देश दिया कि शीघ्र सीटों के बँटवारे के मामले पर बातचीत कर उसे अंतिम स्वरूप दें। सारे विपक्ष से बात करें और चुनाव की लड़ाई शुरू करें। कोरोना काल में सबसे ज्यादा बिहार सरकार असफल रही है। मजदूरों के बारे में यह सरकार बात नहीं करती, भ्रष्टाचार के बारे में बात नहीं करती, बेरोजगारों के बारे में बात नहीं करती, हम करेंगे, कांग्रेस करेगी, बिहार कांग्रेस के साथ पूरा विपक्ष मिलकर करेगी और इस सरकार के खिलाफ लड़ेगी लेकिन सकारात्मक दृष्टिकोण एवं उपागम से।

राहुल गाँधी सुबह 11.00 बजे प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष, कार्यकारी अध्यक्ष, अभियान समिति के अध्यक्ष, कांग्रेस सांसद एवं पूर्व साँसद, विधायक एवं पूर्व विधायक, प्रदेश कांग्रेस कमिटी के पदाधिकारी, जिला कांग्रेस कमिटी एवं प्रखण्ड कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष, मोर्चा संगठनों के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को वीडिया संवाद से सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल, एमपी, प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल एमपी, प्रदेश कांग्रेस के सह प्रभारी बीरेन्द्र सिंह राठौड़, अजय कपूर, पूर्व केन्द्रीय मंत्री तारिक अनवर एवं शत्रुघ्न सिन्हा, आईटी विभाग के अध्यक्ष रोहण गुप्ता, प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा, कांग्रेस विधान मण्डल दल के नेता सदानन्द सिंह, प्रदेश कांग्रेस अभियान समिति के अध्यक्ष डा. अखिलेश प्रसाद सिंह एमपी, प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डा. अशोक कुमार, श्याम सुन्दर सिंह धीरज, डा. समीर कुमार सिंह, पूर्व राज्यपाल निखिल कुमार के अलावे कांग्रेस के विधायक, पूर्व विधायक उपस्थित थे।

राहुल गाँधी ने बिहार के कांग्रेसजनों का आह्वान किया कि वे बिहार के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का सघन दौरा करें और बाढ़ प्रभावित लोगों को यथासम्भव सहायता पहुँचाये। उन्होंने कहा कि देश के साथ बिहार में भी कोरोना वायरस बड़ी तेजी से फैल रहा है तथा हमें इस पर भी नजर रखनी है। देश में बढ़ती बेरोजगारी एवं अर्थव्यवस्था पर निशाना साधते हुए राहुल गाँधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के शासनकाल में रोजगार के अवसर बढ़ाने पर जोर दिया गया था, जबकि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2014 के लोकसभा चुनाव में 2 करोड़ युवाओं को प्रत्येक वर्ष नियोजित करने का वायदा किया था लेकिन आज देश में बिगड़ती अर्थ-व्यवस्था एवं दीर्घकालीन लाकडाउन के चलते बेरोजगार युवाओं की फौज लगातार बढ़ रही है। राहुल गाँधी ने कहा कि बिहार में लाकडाउन कोरोना वायरस एवं बाढ़ के कारण वे कांग्रेसजनों से वर्चुअल संवाद स्थापित कर रहे हैं लेकिन आनेवाले समय में वे बिहार का व्यापक दौरा करेंगे एवं जिला एवं प्रखण्ड तक जायेंगे।

इससे पहले अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के महासचिव (संगठन) के.सी. वेणुगोपाल एमपी, अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल एवं बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने कहा कि श्री राहुल गाँधी देश के भविष्य हैं और उनकी ही नहीं बल्कि बिहार के कांग्रेसजनों की भावना का आदर करते हुए उन्हें कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व संभालना चाहिए। इस अवसर पर मंच का संचालन बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने किया।