मिसिज दिल्ली की सौन्दर्य प्रतियोगिता के खिताब को जीता-निशात अफ़्ज़ा ने

0
25
रिपोर्ट राजू बोहरा, नईदिल्ली,
www.tewaronline.com
निशात अफ़्ज़ा ने अभी हाल ही में आयोजित राष्ट्रीय स्तर की सौन्दर्य प्रतियोगिता मे अपनी प्रतिभा के दम पर मिसेज दिल्ली का खिताब अपने नाम किया. गौरतलब है कि इस प्रतियोगिता का आयोजन पिछले ही दिनों में 19 नवम्बर को को नई दिल्ली के चाणक्यपुरी में डी के इवेंट लंदन एवं एलीट क्लब की अध्यक्ष गुनप्रीत कहलोन कोहली द्वारा भव्य रूप से किया गया था. इस प्रतियोगिता में भारत के कोने कोने से लगभग 50 लोगों ने प्रतिभाग किया था. इस प्रतियोगिता में जूरी के रूप में ब्रिटिश हाई कमिश्नर एन्ड्रू आयर, हालीवुड अभिनेता कबीर सिंह आदि देश की जानी मानी हस्तियो ने शिरकत की थी।
मेरा जन्म एवं पालन पोषण देहरादून में हुआ. मेरी स्नातक तक की शिक्षा दीक्षा देहरादून में हुई. मैने स्नातक विधि मे किया जिसका मुख्य कारण समाज की कुरीतियो एवं बुराइयो से लोगों को न्याय दिलाना था. मैं इस बात को भली भाँति जानती थी कि अगर हमे किसी के लिए आवाज़ उठानी है तो सबसे पहले यह जानना अति आवश्यक है कि लोगों के अधिकार एवं कर्तव्य क्या है और उसके लिए यह सजगता उस व्यक्ति के लिए बहुत आवश्यक होती है जो दूसरो के हक के लिए लड़ना चाहता हो।
2005 में मेरा विवाह हो गया और मैं दिल्ली आ गयी यहाँ से मेरी जिन्दगी का दूसरा अध्याय आरम्भ हुआ. लम्बे समय तक एक राह पर चलते चलते दिल में कुछ बदलाव की इच्छा जागृत हुई और मैं कुछ अलग करना चाहती थी. बचपन से ही मुझे चुनौतीयो का सामना करना और उन पर विजय प्राप्त करना मेरा शौक था।
मेरे दिल में इस दुनिया के लिए भी चाहत और सम्मान था क्योंकि इस सौदर्य जगत मे जहाँ एक तरफ़ किसी महिला के सौदर्य की परीक्षा होती है तो वही दूसरी तरफ़ उसके विभिन्न गुणो की भी अग्नि परीक्षा होती है और मेरे लिए एक सवाल बहुत बड़ा था कि जहाँ मैं अधिवक्ता के रूप में लोगों को न्याय दिलाने के लिए संकल्पबद्ध थी तो दूसरी तरफ़ दिल ने खुद के सपने को न्याय दिलाने के लिए आवाज़ उठायी और उस आवाज़ को मैने सुना और यहां तक आ गयी .शुरुआत को आधा लक्ष्य की प्राप्ति माना जाता है इस कारण मैने शुरुआत कर दी थी अब अन्त कहाँ होगा यह वक्त के गर्भ में है एक अधिवक्ता के साथ अपने पेशे से बिल्कुल अलग क्षेत्र में इस तरह की उप्लब्धि मेरे लिए बहुत रोमांचकारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here