Category Archives: ग्लोब दी गल

मुनाफे में रोड़ा डालती नेट न्यूट्रैलिटी

सुनील रावत. भारत में नेट न्यूट्रैलिटी को लेकर क्यों छिड़ी है बहस भारत में इंटरनेट निरपेक्षता या नेट न्यूटैलिटी को लेकर बहस उस वक्त शुरू हुई जब भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल ने अपना एक इंटरनेट प्लान … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | Leave a comment

. . .एक और गाँधी की क्षति

- अक्षय नेमा मेख मानव सभ्यता के विकास के समय से ही नेतृत्व करने वाले नायकों की भूमिका प्रमुख रही है। मानव समुदाय के सामाजिक जीवन को उन्हीं नायकों ने दिशा-निर्देशित कर विकास की नई-नई विचारधाराओं को प्रवाहित किया है। … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | Leave a comment

देवल रानी: इतिहास के आइने से

देवल रानी—- युवराज ने भरे कंठ से कहा “प्यारी देवल, तुम सचमुच वफा की देवी हो, दिल्ली  के सुलतानों की राजनीति खून,  हत्या षड्यंत्र विश्वासघात से दूध पानी की  तरह घुली मिली थी।  जिसके प्रमाण इतिहास के प्रत्येक पृष्ठ पर … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | Leave a comment

हावर्ड फास्ट : मुक्ति और समानता की संघर्ष गाथाए

जन्म —1914——-निधन 2003 अमेरिका के प्रगतिशील लेखकों की परम्परा के महत्वपूर्ण उपन्यासकार , कहानीकार , पटकथा लेख हावर्ड फास्ट के अंतिम प्रयाण के साथ मानों एक युग ही समाप्त हो गया | जनता के साहित्य का ऐसा पुरोधा नहीं रहा … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | Leave a comment

मानव समाज के अब तक के इतिहास की महानतम क्रान्ति है अक्तूबर क्रान्ति

सुनील दत्ता// रूस में हुई 1917 की अक्टूबर  क्रान्ति देश — दुनिया के नये — पुराने धनाढ्य वर्गो एवं उच्च तबकों को तो विश्व की महानतम क्रान्ति नहीं, अपितु निकृष्टतम क्रान्ति या प्रतिक्रान्ति ही नजर आएगी क्योंकि यह क्रान्ति रूस … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | Leave a comment

We are Superstitious in 21st Century

Dr. M. Faiyaz Uddin Superstition – An irrational belief or practice resulting from ignorance or fear of the unknown. The validity of superstitions is based on belief in the power of magic and witchcraft and in such invisible forces as spirits and demons. … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | 6 Comments

डोंट शूट मी , … और मारा गया गद्दाफी

चार दशकों मे भी अधिक समय से लीबिया की सत्ता पर काबिज रहे तानाशाह कर्नल मुअम्मर गद्दाफी का अपने गृह नगर सिर्ते में नाटो के हमले में अंत हो गया । इसी सिर्ते शहर में जन्म लेने और अपना बचपन … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | 2 Comments

अलकायदा का नया चीफ बना अल अदेल !

अलकायदा के कार्यकारी नेता के तौर पर सैफ अल अदेल का चयन कर लिया गया है। पाकिस्तान से आ रही खबर के मुताबिक 40 वर्षीय अल अदेल 90 के दशक में लादेन के काफी करीब था। 2001 में अफगानिस्तान में … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | Leave a comment

लीबिया में लड़ाई जारी, पूरी क्रूरता दिखा रहे हैं गद्दाफी

1969 में रक्तहीन तख्तापलट द्वारा सत्ता संभालने वाले लीबिया के नेता कर्नल गद्दाफी ट्यूनिशिया और मिस्र के बाद लीबिया में उठे जन ज्वार को पूरी निर्दयता से कुचलने में लगे हुये हैं। लड़ाई सड़कों और गलियों में चल रही हैं। … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | Leave a comment

मिस्र में उपजे सवालों से भविष्य को जूझना होगा

मिस्र में मुबारक शासन को प्रतिदिन 310 मिलियन अमेरिकी डालर का नुकसान हो रहा है, शनिवार की सुबह   तहरीर चौक के पास गोलियां भी चली हैं, इस बीच 29 जनवरी की एक खबर आ रही है कि उपराष्ट्रपति सुलेमान पर … विस्तार से पढ़ें

Posted in ग्लोब दी गल | 1 Comment