जोड़ों पर जोर देकर काम करने से हो सकता है गठिया: डॉ. राजीव सिंह

0
6
डॉ, राजीव सिंह मरीजों की जांच करते हुये
डॉ, राजीव सिंह मरीजों की जांच करते हुये

पटना, तेवरऑनलाइ। वर्ल्ड अर्थराइटिस के मौके पर रोटरी पटना ग्रेटर और साईं फिजियोथेरेपी के तत्वाधान में बोरिंग कैनाल रोड में एक चिकित्सा कैंप का आयोजन किया गया। इस दौरान लोगों को अर्थराइटिस के बारे जानकारी दी गई। मौके पर साईं फिजियोथेरेपी के डायरेक्‍टर डॉ, राजीव सिंह ने कहा कि ज्यादा वजन और जोड़ों पर जोर देकर काम करने वालों में गठिया की संभावना अधिक होती है। यह बीमारी महिला और पुरुष दोनों में होती है।

उन्होंने कहा कि ऑस्टीयो अर्थराइटिस गठिया की बीमारी आम है। इसके अलावा रूम्टे वाइड भी अर्थराइटिस का एक प्रकार है। जो आधुनिक विज्ञान या एलोपैथ के लिए आज भी रहस्यी बना हुआ है। आज 70 वर्ष की आयु से अधिक 60 फीसदी लोग ऑस्टीनयो पीड़ित हैं। इसके मरीजों को चलने में दिक्कत होती है। 25 फीसदी ठीक से अपनी रोज की दिनचर्या का कार्य नहीं कर पाते हैं। इस कार्यक्रम में ओरो डेंटल के डॉ. आशुतोष त्रिवेदी, वरिष्ठ हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. सुभाष चंद्र, जदयू प्रवक्ता, संजय सिंह, रोटरी पटना ग्रेटर की ट्रेजरी अंकिता सिंह आदि उपस्थित रहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here