मामला मगध विश्वविद्यालय के बारह प्रचार्यो की नियुक्ति का

0
47

विनायक विजेता, वरिष्ठ पत्रकार|

पूर्व राज्यपाल के सलाहकार के इशारे पर हुई उगाही
मामला मगध विश्वविद्यालय के बारह प्रचार्यो की नियुक्ति का
रुपये वसूलने वाला प्रेमचंद है एक पूर्व सांसद का करीबी
एलीफिस्टन सिनेमा हॉल के मालिक भी जांच के दायरे में
हवाला के माध्यम से दिल्ली भेजे जाते थे रुपये
स्पेशल ब्रांच के गोपनीय पत्र से हुआ इस मामले का खुलासा
जबतक जांच पूरी नहीं होती कुछ कहना मुश्किल- पी के ठाकुर

मगध विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले 12  कॉलेजों में प्राचार्य पद की  परीक्षा,  उनके परीक्षाफल और उनकी नियुक्ति के मामले ने नया मोड़ ले लिया है।  सूत्रों के अनुसार बिहार के एक पूर्व राज्यपाल के कथित सलाहकार गिरी  रेड्डी के इशारे पर यह वसूली की गई। सबसे सनसनीखेज बात तो यह है कि पूर्व  राज्यपाल देवानंद कुंवर के सलाहकार बने तथा कर्नाटक निवासी गिरी रेड्डी  दिल्ली स्थित कांग्रेस कार्यालय में लिपीक पद पर कार्य किया करते थे  जिन्हें कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री वाई आर एस रेड्डी की पैरवी पर बिहार  के पूर्व राज्यपाल ने अपना सलाहकार बना लिया जबकि नियमानुसार राज्यपाल के  सलाहकार आईएएस या आईपीएस अधिकारी होते हैं वो भी तब जब उस राज्य में  राष्ट्रपति शासन लागू हो। प्राचार्य परीक्षा,  बहाली और इससे संबंधित लेन-देन की विशेष शाखा ने अपने अधिकारियों को जो गोपनीय रिपोर्ट दी है वो काफी  विस्फोटक और सनसनीखेज है। विशेष शाखा की इसी रिपोर्ट के बाद निगरानी  अन्वेशन ब्यूरो ने इस मामले की जांच को अपने हाथ में ले लिया है। इस संदर्भ में पूछे जाने पर निगरानी के एडीजी पीके ठाकुर ने बताया कि जांच चल रही है  अभी इस संदर्भ में कुछ नहीं कहा जा सकता। सूत्र बताते हैं कि डीजी  कार्यालय से प्रतिदिन एक रिपोर्ट मुख्यमंत्री को भेजे जाते है जिसे एलो पेज कहा जाता है। इसी पेज में यह रिपोर्ट मुख्यमंत्री को भेजी गई जिसकी निगरानी जांच का आदेश मुख्यमंत्री ने कर दिया। सूत्रों के अनुसार राज्यपाल के कथित पूर्व सलाहकार और प्राचार्यों के बीच बिचौलिए की भूमिका निभाने  वाला प्रेमचंद सिंह नामक व्यक्ति हाल में ही एक चर्चित हत्याकांड से बरी  हुए एक बाहुबली पूर्व सांसद का करीबी भी है।

यह है स्पेशल ब्रांच द्वारा भेजी गई चिट्ठी के अंश-

ज्ञापांक-4751, दिनांक-11/03/ 2013

‘महाशय, ऐसी आसूचना प्राप्त हुई है कि मगध विश्वविद्यालय के कुलपति द्वारा 12 प्राचार्यों का परीक्षाफल कल आनन-फानन में प्रकाशित किया गया है। इसमें भारी लेन-देन की गई है जबकि इस परीक्षा का इंटरभ्यू एक माह पूर्व लिया गया था। प्रत्येक पास घोषित प्रिंसिपल से 25 से 30 लाख रुपये लिए जाने की आसूचना है। यह काम कुलपति अरुण कुमार के निर्देशानुसार स्थानीय मंदिरी निवासी प्रेमचंद सिंह जिनका मोबाइल नंबर 9334123702 है के द्वारा उगाही की गई। इस व्यक्ति के पास एक टाटा सूमो है और यह मूलत: एकमा, छपरा का रहने वाला है। इन प्राचार्यों का पदस्थापन पूरा पैसा नहीं प्राप्त होने के कारण नहीं हो पाया जो कि एक या दो दिन में हो जाने की संभावना है। यह रुपया एलीफिस्टन सिनेमा के मालिक रुंगटा द्वारा हवाला के माध्यम से दिल्ली में गिरी रेड्डी को भेजा जाएगा। गिरी रेड्डी पूर्व राज्यपाल देवानंद कुंवर के ओएसडी हैं। कुलपति मगध विश्वविद्यालय का मोबाइल नंबर 9334292817 है। संभवत: प्रेमचंद के मोबाइल 9334123702 के बीच इस लेन-देन की चर्चा हुई हो या हो रही हो।’

Previous articleअब सुप्रीम कोर्ट की शरण लेंगे लालू प्रसाद
Next articleइशरत जहां एनकाउंटर का सच!
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here