मुसलमानों में तेजी से पैठ बना रहे हैं पप्पू यादव

0
27

बिहार विधानसभा चुनाव में जोरआजमाईश करते हुये जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव यहां की सोशल इंजीनियरिंग को साधने की पुरजोर कोशिश करते दिख रहे हैं और एक हद तक उन्हें इसमें सफलता भी मिल रही है।

उनकी कोशिशों की वजह से इसी क्रम में अंसारी महापंचायत के संयोजक वसीम नैयर अंसारी, खुर्शीद आलम अंसारी सहित पूरा संगठन अपने सभी सदस्यों के साथ जन अधिकार पार्टी (लो.) में शामिल हो गया। पप्पू यादव का इरादा राजद के पारंपरिक माई (मुस्लिम और यादव) समीकरण को भी ध्वस्त करने का है। तभी तो वह वह राजद के परिवारवादी राजनीति पर जोरदार हमला बोल रहे हैं और साथ ही व्यवहारिकतौर पर मुसलमानों के बीच अपनी पैठ को भी मजबूत कर रहे हैं। इतना ही नहीं  राजद से अलगाव की शर्त पर कांग्रेस के साथ मजबूती से खड़ा होने की भी बात कर रहे हैं और जदयू-भाजपा की एनडीए सरकार को भी कठघरे में खड़ा कर रहे हैं ताकि कांग्रेस समर्थक परंपरागत सेक्यूलर वोटों को अपने पाले में कर सके।

राजधानी पटना एक होटल में आयोजित अंसारी महापंचायत के कार्यक्रम में उन्होंने खुलकर कहा कि बिहार में जदूय और भाजपा को फिर से सत्ता में आने  से कोई रोक सकता है तो वह है प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक अलायंस। प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक अलायंस की छतरी के नीचे जन अधिकार पार्टी (लो.) सहित कई पार्टियां बिहार में परिवर्तन के लिए खड़ी हो रही हैं। राजद और जदयू-भाजपा से यदि बिहार को कोई छुटकारा दिला सकता है तो वह प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक अलायंस ही है।  इस अलाएंस में हम हर उस व्यक्ति का स्वागत करते हैं जो खुले हुये दिमाग का है और जो बिहार की बेहतरी चाहता है।

पप्पू यादव ने अंसारी महापंचायत की प्रशंसा करते हुए उनका जाप में स्वागत किया और कहा कि अब बिहार और बिहारी का राज चलेगा। उन्होंने कांग्रेस पार्टी और उपेंद्र कुशवाहा को एक बार फिर पीडीए में शामिल होने की दावत दी। साथ ही यह भी कहा कि हमारे यहां मुख्यमंत्री पद के लिए कोई विवाद नहीं होगा। सरकार बनने की स्थिति में हम सात-सात उपमुख्यमंत्री बनाएंगे।

पप्पू यादव ने रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा से कहा कि आप मुख्यमंत्री बनें लेकिन पहले साथ आएं और बिहार को सांप्रदायिकता और जातिवाद से बचाएं। उन्होंने कांग्रेस से कहा कि उसे राजद परिवार से छुटकारा लेना पड़ेगा।

जाप अध्यक्ष ने अपने प्रतिज्ञा पत्र की बातों को दोहराते हुए भरोसा दिलाया कि वे माफिया-बेईमान-दलाल का राज खत्म करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर उनकी सरकार बनती है तो छह महीने में या तो वे रहेंगे या माफिया रहेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र की सरकार 90% रोजगार वाली जगह पर नौकरी खत्म कर रही है। किसान, मजदूर और छोटे-मझोले व्यापारियों की आत्मा पर चोट कर रही है।

पप्पू यादव ने आगे कहा कि एक तरफ लालू प्रसाद मुसलमानों को बीजेपी का डर दिखाकर उनकी रहनुमाई का दावा करते हैं तो दूसरी ओर नीतीश कुमार ऊंची जाति को लालू का डर दिखाकर वोट मांगते हैं। मैं बिहार से डर और भय की राजनीति को खत्म करूंगा। जाप अध्यक्ष ने दावा किया कि अगर बीजेपी से कोई लड़ सकता है तो वह पीडीए ही है।  पप्पू यादव ने हाथरस रेप-मर्डर की निंदा करते हुए कहा कि या तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस्तीफा दें या उन्हें बर्खास्त किया जाए। जाप की पहली प्राथमिकता महिला सुरक्षा हैं। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार को अपनी ओर से वह दो लाख रुपये देने का ऐलान करते हैं। एक सवाल में जवाब में उन्होंने  कहा कि यदि चिराग पासवान पीडीए ज्वाइन करते हैं तो उनका स्वागत है। यदि वह मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं तो पहले उन्हें भाजपा का साथ छोड़ना होगा।

इस अवसर पर राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, राघवेन्द्र सिंह कुशवाहा, राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू, प्रदेश उपाध्यक्ष अवधेश लालू, टिक्का खान उपस्थित थे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here