सिर्फ 15 महीने में बिहार को विकास की पटरी पर दौड़ा देंगे: उपेंद्र कुशवाहा

0
20

पटना। रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने शनिवार को पार्टी का घोषणा पत्र जारी करते हुये कहा कि बिहार को विकास की पटरी पर वह महज 15 महीने में ही दौड़ा देंगे। 15 साल राजद और 15 साल जदयू-भाजपा का शासन बिहार के लोगों के देख लिया है। इन 30 वर्षों में बिहार का क्या विकास हुआ है सब को पता है। उन्होंने कहा कि यदि रालोसपा सत्ता में आती है तो बिहार सिर्फ 15 महीने में ही विकास की पटरी पर दौड़ती ही नजर आएगी। घोषणा पत्र में यह नारा दिया गया है कि न 15 साल वाली यह सरकार, न 15 साल वाली वह सरकार, अबकी बार शिक्षा और रोजगार वाली सरकार।

उन्होंने कहा कि बिहार में शिक्षा के क्षेत्र में बहुत काम करने की जरूरत है। सत्ता में आते ही केंद्रीय विद्यालय और नवोद्य विद्यालय की तर्ज पर हर जिले में स्कूल खोलेंगे जिसमें गरीब बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई हुई है। इसे दुरुस्त करने के लिए 2000 की आबादी पर एक अस्पताल खोला जाएगा। इसके साथ ही शहरों के हर वार्ड में एक स्वास्थ्य केंद्र खोलने की व्यवस्था की जाएगी जहां 24 घंटे स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध रहेंगी।

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि बिहार का राजनधानी पटना का नाम बदल कर कर पाटलिपुत्र कर दिया जाएगा ताकि बिहार के प्राचीन गौरव को हम प्राप्त कर सके। बिहार में बाढ़ की स्थिति से निपटने की पुख्ता व्यवस्था की जाएगी। सिमांचल में बाढ़ से हर साल भारी तबाही होती है और इस तबाही के साथ-साथ राहत के नाम पर लूट खसोट का कारोबार भी शुरु हो जाता है। बाढ़ से सिमांचल को निजात दिलाने के लिए हम पूरी ताकत लगा देंगे।

उन्होंने कहा कि बिहार में खेती और किसान को बचाने के लिए भी व्यवस्थित तरीके से काम किया जाएगा। मनरेगा की तरह स्वामी सहजानंद सरस्वती कृषि योजना चलाई जाएगी ताकि कृषि कार्यों से जुड़े हुये लोगों को सालों रोजगार मिल सके।

उपेंद्र कुशवाहा ने न्यायपालिका में वंचित समुदाय के लोगों के उचित प्रतिनिधित्व दिलाने की बात करते हुये कहा कि यदि उनकी सरकार बनती है तो न्यापालिका का दरवाजा भी वंचित लोगों के लिए खोलने का प्रावधान किया जाएगा। इसके साथ ही न्यायिक प्रक्रिया में सुधारों की दिशा में काम किया जाएगा ताकि त्वरित न्याय को सुनिश्चित किया जा सके।

उन्होंने कहा कि बिहार में खेल और कला के क्षेत्र में छुपी प्रतिभाओं की भी तलाश करके उन्हें निखारा जाएगा। स्कूल और कॉलेजों में खेल और कला भी खासा जोर होगा। उन्होंने जोर देते हुये कहा कि इसके साथ ही पत्रकार बंधुओं का भी पुरा ख्याल रखा जाएगा। पत्रकार लोग विपरित परिस्थिति में अपने कार्य को अंजाम देते हैं। उनके स्वास्थ्य और सामाजिक सुरक्षा को लेकर हम योजनाएं बनाएंगे।

इस अवसर पर धीरज सिंह कुशवाहा, डॉ. अमित कुमार, अनिल यादव, उपेंन्द्र पासवान आदि मौजदू थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here