अब उद्धव ठाकरे का चौखट चुमने से शाहरूख को परहेज नहीं

1
25

अरबेंद्र प्रताप, मुंबई

मुंबई में हाई लेवल पर जो कुछ भी होता है सब माल बनाने के लिए होता है। दोस्ती और दुश्मनी के तौर तरीकों को भी नोट बनाने के मैकेनिज्म में ढाल दिया जाता है। कुछ दिन पहले शाहरुख खान के खिलाफ शिवसेना अपनी आस्तीनें चढ़ा कर ताल ठोक रही थी, और देशभर में यही संदेश भेजने की कोशिश कर रही थी कि वह राष्ट्रहित के लिए कुछ भी करने को तैयार है। इस देश में रहकर यदि कोई व्यक्ति पाकिस्तान की तरफदारी करता है तो उसके खिलाफ जोरदार मोर्चा खोला जाएगा। उस वक्त शाहरुख खान की फिल्म माई नेम इज खान रीलीज पर थी। और किंग खान ने इस मौके का भरपूर इस्तेमाल करते हुये एक चालाक व्यवसायी की तरह शिवसेना के खिलाफ भी खूब उल्टा सीधा बोला था, जिसका लाभ उनकी फिल्म को मिला। अब वही शाहरुख खान न सिर्फ शिवसेना के मुख्यपत्र सामना को आधे पेज का विज्ञापन दे रहे हैं बल्कि शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को उनकी 50 वें जन्मदिन की बधाई देने के लिए उनकी चौखट को भी चूम रहे हैं।  

शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव के 50 वां जन्मदिन काफी धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर उनको बधाई देने वालों का तांता लगा रहा। हर क्षेत्र की नामी गिरामी हस्तियों ने उन्हें अपने अपने तरीके से शुभकामानाएं और बधाइयां दी। इस फेहरिस्त में शाहरुख खान का नाम भी शामिल है। शाहरुख खान ने अपने अंदाज में उन्हें उनके 50 वें जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाईयां दी। इसके लिए उन्होंने शिवसेना के मुख्यपत्र सामना पर बाकायदा आधे पेज का विज्ञापन भी दिया। जिसके माध्यम से “Wish best Compliments from Red Chillies Entertainment” कहा।  रेड चिल्ली एंटरटेनमेन्ट फिल्म कंपनी शाहरुख खान की खुद की कंपनी है। हालांकि माई नेम इज खान फिल्म में हुई कमाई के आगे यह कुछ भी नहीं। फरवरी में शाहरुख खान की फिल्म माई नेम इज खान के रीलीजिंग के समय शाहरुख खान ने आईपीएल में  पाकिस्तानी  खिलाड़ियों को लेने की तरफदारी की थी, जिस पर शिवसेना का भारी भरकम विरोध शाहरुख खान को सहना पड़ा था। लेकिन इस स्टंट में शाहरुख खान की फिल्म माई नेम इज खान को काफी कमाई हुई थी, जिसका अहसान शाहरुख खान अभी तक मानते रहे हैं और भविष्य में भी मानते रहेंगे। इसलिए उन्होंने सामना में आधे पेज के विज्ञापन के साथ उद्धव ठाकरे के घर पर उन्हें जन्मदिन की बधाई देने पहुंचे। जिससे उन्हें आगे की फिल्मों में नुकसान ना सहना पड़े। हालांकि यह भी है,अगर महाराष्ट्र में रहना है तो सेना सेना कहना है। वैसे अब पुरानी बीतें चुकी है, लोगों के जेहन से भी सबकुछ निकल गया है। ऐसे में कुशल व्यवसायी शाहरुख खान को अब उद्धव ठाकरे का चौखट चूमने से कोई परहेज नहीं है। वैसे भी जन्मदिन के अवसर पर बधाई देने का पुराना दस्तूर रहा है, और इस दस्तूर की आड़ में यदि शाहरूख खान शिवसेना के साथ अपनी गोटी फीट कर रहे हैं तो इसे पूरी तरह से मुंबईया कल्चर के अनुकूल ही माना जाना चाहिए।

1 COMMENT

  1. YE SAB POLITICAL DRAMMA THA SHIV SENA AUR NAUTANKI SHARUKH KHAN KAA YE BUSINESS STRATEGY THI.TU MAARE JAISA KAR MAI RONE JAISA ACTING KARTA HU YE KAHAVAT JAISA HUHA HAI.AISE DRAME BAAZO SE MEDIA NE ALERT RAHANA CHAHIYE.YE MEDIA KAA MISUSED KARTE HAI DESH KE GAMBHIR MUDDO KO INKE CHAKKAR ME SIDELINES HONA PADTAA HAI

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here