एक लड़की के संघर्ष, साहस और सफलता की कहानी है ‘‘नूरी’’

1
34

राजू बोहरा, नई दिल्ली

दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल के लिए ‘‘मैला आँचल, डिटेक्टिव करण, हमसफर-द ट्रेन’’ और ‘‘फौजी-द आयरनमैन’’ जैसे लोकप्रिय धारावाहिक बनाने वाले टेलीविजन के जाने-माने निर्माता-निर्देशक किशोर डंग छोटे पर्दे के दर्शकों के लिए एक और नया पारिवारिक धारावाहिक ‘‘नूरी’’ लेकर आये हैं, जिसका प्रसारण हाल ही में दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल डीडी वन पर प्राईम टाईम में प्रत्येक सोमवार और मंगलवार रात 9.30 बजे शुरू हुआ है।

हिमाचल प्रदेश की अलग-अलग खूबसूरत वादियों में फिल्मायें जा रहे इस धारावाहिक ‘‘नूरी’’ में भी निर्माता-निर्देशक किशोर डंग ने हर बार की तरह इस बार भी एक फ्रेश विषय को चुना है जो दर्शकों का मनोरंजन तो करता ही है साथ ही कई सामाजिक संदेश भी देता है। धारावाहिक ‘‘नूरी’’ एक लड़की के ‘‘संघर्ष, साहस, धैर्य और सफलता की कहानी पर आधारित है।

‘‘नूरी’’ हिमाचल प्रदेश के एक गांव में अपने माता-पिता, और दो बड़ी बहनों के साथ हंसी-खुशी रहती है। समय के साथ हालात कुछ ऐसे बिगड़ते हैं कि उसका हंसता-खेलता परिवार दर्द के आगोश में खो जाता है और वो अपना गांव तक छोड़ने को मजबूर हो जाते हैं, लेकिन ‘‘नूरी’’ हिम्मत नहीं हारती बल्कि अपने परिवार को इन हालातों से लड़ने का जज़्बा देती है और न सिर्फ अपने परिवार की खोई प्रतिष्ठा वापस लाती है तथा उसी गांव में रहकर ऐसे सामाजिक कार्य करती है जिससे वो गांव के लोगों के लिए एक मिसाल भी बन जाता है। ‘‘के.आर. फिल्म इंटरनेशनल प्रोडक्शन’’ के बैनर तले बन रहे इस धारावाहिक के निर्माता-निर्देशक किशोर डंग और लेखक रमेश चन्द्र सरोज हैं जिन्होंने हाल ही प्रदर्शित फिल्म ‘‘रिवाज़’’ भी लिखी है। हिमाचल की खूबसूरत वादियों में धारावाहिक के दृश्यों को कैमरे में कैद किया है जाने-माने सिनेमा ग्राफर रमेश नौटियाल ने।

धारावाहिक में ‘‘नूरी’’ की शीर्षक भूमिका शाहिना खान निभा रही हैं। अन्य किरदारों को गोविन्द पांडे, शादिया खान, सुशील त्यागी, वन्या जोशी, प्रमोद कुमार, सपना, मनीष कुमार आदि निभा रहे हैं। धारावाहिक में महेन्द्र सिंह राणा की एक दमदार भूमिका स्वयं निर्माता-निर्देशक किशोर डंग निभा रहे हैं। गौरतलब है कि बतौर निर्माता-निर्देशक ‘‘मैला आंचल’’ के लिए 1991 में और ‘‘डिटेक्टिव करण’’ के लिए 2005 और 2007 में बेस्ट धारावाहिक का अवार्ड ले चुके हैं।

सन् 1979 में इसी शीर्षक पर एक सुपरहिट फिल्म ‘‘नूरी’’ भी बन चुकी है जिसमें फारूख़ शेख’ और पूनम ढिल्लो ने मुख्य भूमिका निभाई थी। निर्माता-निर्देशक किशोर डंग के अनुसार- ‘‘नूरी एक साफ-सुथरा पारिवारिक धारावाहिक है जो मेरे पिछले धारावाहिक की तरह ही दर्शकों को अवश्य पसंद आयेगा।’’

Previous articleपटना में बनेगा “गंगा ड्राइव-वे”(Ganga Driveway): महापरियोजना को सरकारी मंज़ूरी
Next articleरेट फिक्स है..!!(व्यंग्य)
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here