फैशन फोटोग्राफी की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाना चाहती हूँ – प्रभजोत कौर

2
33

राजू बोहरा, नयी दिल्ली

अगर किसी भी कामयाब एक्टर या मॉडल से यह पूछा जाये कि कैरियर के शुरूआती दौर यानी स्ट्गल के दिनों में उनको ब्रेक दिलाने में सबसे अहम्  भूमिका किस की होती है तो निसंदेह ही उस प्रसिद्ध मॉडल या एक्टर का एक ही जवाब होगा उसके प्रोफेशनल पोर्टफोलियो की है। गौरतलब है कि किसी भी फिल्म, सीरियल, एड फिल्म या फैशन शो के लिए नए मॉडल्स या एक्टर्स का सिलेक्शन उसके प्रोफेशनल पोर्टफोलियो को देखकर ही किया जाता है,पोर्टफोलियो से पसंद करने के बाद ही किसी मॉडल या एक्टर को ऑडिशन, स्क्रीन टेस्ट या लुक टेस्ट करके फाइनल किया जाता है। इसी से आइडिया लगाया जा सकता है कि एक मॉडल्स या एक्टर्स को अपनी क्रिएटिव फोटोग्राफी से आम लोगो को खास बनाने वाले प्रोफेशनल फोटोग्राफर्स की कितनी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। आज के इस आधुनिक दौर में प्रोफेशनल फैशन फोटोग्राफी के क्षेत्र में काफी संभावनाए बढ गयी है इस लिए अब इस फील्ड को लड़कों के साथ-साथ लड़किया भी बड़ी तादात में इस प्रोफेशन को कैरियर के रूप में अपना रही है और अपनी प्रतिभा से खूब नाम और शौहरत कमा रहीं हैं।  ऐसी ही चर्चित महिला फैशन फोटोग्राफर्स की लिस्ट में एक नाम दिल्ली की प्रभजोत कौर का भी तेजी से शुमार हो रहा है।  क्रिएटिविटी और आत्म विश्वास से भरपूर इस उभरती फैशन फोटोग्राफर प्रभजोत कौर से हाल ही में खास बातचीत की वरिष्ठ फिल्म-टीवी पत्रकार राजू बोहरा ने। प्रस्तुत है उसके प्रमुख अंश।

प्रभजोत सबसे पहले आप पाठको को यह बताये कि फैशन फोटोग्राफी की दुनिया में किस तरह आना हुआ और क्या आपका फॅमिली बैकग्राउंड भी फैशन फोटोग्राफी की दुनिया से ही है ?

फोटोग्राफी का शौक मुझे बचपन से ही रहा है यही वजह कि मैंने इस फील्ड में शौकिया तौर पर करीब ढाई साल पहले अपने कैरियर की शुरुआत की थी। धीरे-धीरे इस फील्ड में मेरी रूचि लगातार बढने लगी क्योंकि ये मुझे काफी क्रिएटिव फील्ड लगने लगा तो फिर मैंने इसे अपना कैरियर ही बना लिया,जिसके लिए मैंने बकायदा फैशन फोटोग्राफी  की प्रोफेशनल ट्रैनिंग भी ली है, हालाकि मेरे फॅमिली बैकग्राउंड में  कोई भी इस फील्ड से नहीं जुडा है सभी अपना बिजनैस करते है, पर मुझे इस क्रिएटिव फील्ड में काफी मजा आ रहा है।

ढाई साल के छोटे से कैरियर मैं ही आपने फैशन फोटोग्राफी की दुनिया में अच्छा खासा नाम कमा लिया है इसकी क्या मुख्य वजह है ?

किसी भी फील्ड में कामयाब होने के लिए कई चीजे अहम् ंहै जिसमें सबसे अहम् है आपकी सच्ची लगन मेहनत और आपका क्रिएटिव वर्क। फैशन फोटोग्राफी एक क्रिएटिव फील्ड है जहा आपको हर दिन खुद को अपडेट करना पड़ता है, एक नयी टेकनिक से जूझना पड़ता है, हर बार कुछ नया क्रिएट करना पड़ता है तभी आपकी मार्किट बरकरार रहती है, मुझे खुशी है कि ढाई साल के छोटे से कैरियर में ही अच्छा काम कर दिखाने का मौका मिला है , इसकी एक वजह यह भी है कि मैं तेजी से बदलती टेकनिक के साथ अपनी फोटोग्राफी को अपडेट करती रहती हूँ।

अब तक आपने किस-किस तरह की क्रिएटिव  फैशन फोटोग्राफी की है ?

अब तक मैं लगभग हर तरह की क्रिएटिव फोटोग्राफी कर चुका हूँ जैसे प्रोडक्ट शूट, प्रिंट ऐड शूट, मॉडल पोर्टफोलियो शूट, प्रोफेशनल फैशन शो शूट,  इवेंट शूट, बॉलीवुड सेलिब्रिटीज शूट, डिजानर शूट आदि

फोटोग्राफी में आप किस बड़े फोटोग्राफर से बहुत ज्यादा प्रभावित है किन-किन फैशन डिजाइनर  के लिए शूट करना चाहती है?

वैसे तो मैं कई बड़े फोटोग्राफर्स से प्रभावित हूँ पर सबसे ज्यादा बॉलीवुड फोटोग्राफर दब्बू रत्नानी से सबसे ज्यादा प्रभावित हूँ और उन्ही की तरह फोटोग्राफी की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाना चाहती हूँ, जहां तक मेरे फेवरेट फैशन डिजाइनर का सवाल है तो मैं ऋतू वर्मा,रोहित बल, मनीष मल्होत्रा,तरुण तहिलियानी मेरे पसंदीदा डिजाइनर है जिनके लिए मैं भविष्य में शूट करना चाहती हूँ।

फैशन फोटोग्राफी की दुनिया में आने वाली नयी लडकियों को क्या मेसेज देना चाहेंगी?

मैं फैशन फोटोग्राफी की दुनिया  में आने वाली नयी लडकियों को यही मेसेज देना चाहूंगी कि इस क्रिएटिव फील्ड में कैरियर की अपार संभावना है जिसे आप कैरियर के रूप में चुन सकते है, पर इसके लिए प्रोफेशनल ट्रैनिंग लेना जरुरी है, बाकी आपकी मेहनत और  क्रिएटिविटी पर डिपेंट करता है।

Previous article… कुछ भी बन बस कायर मत बन !
Next articleसार्क साहित्य सम्मेलन में मोहब्बत की खुशबू
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

2 COMMENTS

  1. nehru ki khbar per aap mafi magiyega ki nhee wo rapat download kar rakha hu, aap logo ne badnam kiya hai mansa aaplogo ki thik nhi hai

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here