बिहार इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन ने कारोना को लेकर सरकार को दिये सुझाव

0
28

पटना। पटना सहित पूरे राज्य में कोरोना संक्रमण की संख्या में हो रहे प्रतिदिन अप्रत्याशित ढंग से वृद्धि तथा सरकारी अस्पतालों में मरीजों के इलाज का सीमित संख्या होने के कारण लोगों को इलाज में हो रही परेशानी पर बिहार इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन ने चिन्ता जताते हुए सरकार के समक्ष कुछ सुझाव रखे हैं।

एसोसिएशन के अध्यक्ष राम लाल खेतान ने कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमण की संख्या अप्रत्याशित ढंग से बढ़ रही है। सरकार के पास सरकारी अस्पतालों में सीमित संसाधन एवं बिस्तर उपलब्ध है जो संक्रमित मरीजों के मांग के अनुसार प्रयाप्त नही है। खेतान ने कहा कि इसके मद्देनजर यह आवश्यक है कि सरकार राज्य के निजी क्षेत्र में कार्यरत कुछ अस्पतालों को भी कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करने की अनुमति प्रदान करें। एसोसिएशन के उपाध्यक्ष संजय भरतिया ने सरकार के उस निर्णय का सराहना किया जिसके तहत् पटना के दो बड़े अस्पताल-रूबन मेमोरियल अस्पताल तथा पारस अस्पताल को कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए अनुमति प्रदान की गई है। उन्होंने सरकार से यह भी अपील की कि पटना के बाहर भी इस प्रकार की प्रबंध सरकार द्वारा करने की आवश्यकता है। कुछ अस्पतालों ने इसके लिए आवेदन भी दिया है सरकार को जल्द-से-जल्द उनके आवेदन पर विचार करते हुए उन्हें आवश्यक अनुमति प्रदान करनी चाहिए।

एसोसिएशन के दूसरे उपाध्यक्ष सुधीर चन्द्र अग्रवाल द्वारा यह मांग की गई कि देश के एक बड़े प्रसिद्ध अस्पताल ‘‘अपोलो अस्पताल’’ द्वारा पटना में एक शाखा खोली गई है। सरकार को अपोलो अस्पताल की सेवा भी कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए लिया जाना चाहिए। राम लाल खेतान द्वारा यह भी जानकारी दी गई कि एसोसिएशन ने अपने उपरोक्त सुझाव के साथ मुख्यमंत्री, उप-मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य विभाग, प्रधान सचिव, आपदा प्रबंधन विभाग, आयुक्त पटना प्रमंडल तथा जिलाधिकारी – पटना को पत्र लिखा है।