रालोसपा के किसान चौपाल को मिल रहा है किसान संगठनों का समर्थन

0
4

पटना। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के किसान चौपाल को बिहार के किसान व जन संगठनों का समर्थन मिल रहा है। किसान संगठनों ने रालोसपा और पार्टी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा को किसान चौपाल के आयोजन के लिए आभार भी जताया है। मंगलवार को किसान चौपाल की शुरुआत केंद्र सरकार के तीन काले कृषि कानूनों की प्रतियां जला कर की गई थी।

किसान संगठनों और किसानों के आंदोलन को धार देने के लिए राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने बिहार में मंगलवार से किसान चौपाल की शुरुआत की है। छह सदस्यीय कोआर्डिनेशन कमेटी ने गुरुवार को किसान चौपाल की समीक्षा की और जिला में लगाई जाने वाले चौपाल को सुचारू रूप से चलाने के लिए जिला व क्षेत्रीय प्रभारियों से जानकारी ली. छह सदस्यीय समन्वय समिति में प्रदेश प्रधान महासचिव निर्मल कुशवाहा, अभियान समिति के प्रदेश अध्यक्ष जीतेंद्र नाथ, कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष बीके सिंह और अतिपिछड़ा प्रकेष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चंद्रवंशी के अलावा राष्ट्रीय महासचिव व प्रवक्ता फजल इमाम मल्लिक और प्रदेश महासचिव व प्रवक्ता धीरज सिंह कुशवाहा शामिल हैं। फजल इमाम मल्लिक और धीरज सिंह कुशवाहा ने पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी।

पार्टी प्रववक्ताओं ने बताया कि किसान चौपाल को सफल बनाने के लिए 41 जिला प्रभारी बनाए गए हैं। इनके अलावा दस क्षेत्रीय प्रभारी भी पार्टी ने नियुक्त किया है। रालोसपा ने चौपाल के संचालन के लिए पार्टी के प्रभारी प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र कुशवाहा को बक्सर, भोजपुर, कैमुर, सासाराम और औरंगाबाद का व कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष संतोष कुशवाहा को नालंदा, पटना, नवादा, गया, जहानाबाद और अरवल का क्षेत्रीय प्रभारी बनाया है। इनके अलावा राष्ट्रीय महासचिव अंगद कुशवाहा को बांका व भागलपुर, कार्यकारी अध्यक्ष रेखा गुप्ता को सीतामढ़ी, शिवहर और वैशाली, मदन चौधरी को मुजफ्फरपुर, सारण, सीवान और गोपालगंज, चंदन बागची को सहरसा, सुपौल, पूर्णिया, कशिनगंज व अररिया, राष्ट्रीय महासचिव राहुल कुमार को शेखपुरा, जमुई, लखीसराय और मुंगेर, प्रदेश महासचिव ब्रजेंद्र कुमार पप्पू को मधुबनी, समस्तीपुर, बेगुसराय व दकभंगा, किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष कुशवाहा को पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण और बगहा व युवा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष हिमांशु पटेल को खगड़िया, नवगछिया, कटिहार और मधेपुरा का क्षेत्रीय प्रभारी बनाया गया है।

मल्लिक व धीरज ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा का मानना है कि कृषि कानून केंद्र सरकार ने पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए बनाया है। रालोसपा किसान चौपाल के जरिए बिहार के दस हजार गांवों में चौपाल लगाएगी और 25 लाख किसानों के घरों तक जाकर उन्हें इन काले कानूनों के की जानकारी देगी और उन्हें जागरूक करेगी. किसान चौपाल 28 फरवरी तक लगाई जाएगी. कुशवाहा ने कहा कि बिहार में किसानों को इन कानूनों से होने वाले नुकसान की जानकारी देने के लिए रालोसपा किसान चैपाल का आयोजन कर रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here