केंद्र के वादाखिलाफी के राजद का मार्च

0
56

तेवरआनलाईन, पटना

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के वादा खिलाफी के खिलाफ 15 मार्च 2015 को 11 बजे दिन में जेपी गोलंबर गांधी मैदान, पटना में राजभवन मार्च को सफल बनाने के लिए पटना जिला राजद की ओर से आज प्रदेश कार्यालय में जिलाध्यक्ष देवमुनी सिंह यादव की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में पटना जिला के प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी सभी प्रखंड अध्यक्ष उपस्थित हुए। बैठक में जिलाध्यक्ष श्री देवमुनी सिंह यादव ने सभी प्रखंड अध्यक्ष तथा पदाधिकारियों को बैनर झंडा के साथ हजारों की संख्या में मार्च में शामिल होने का निर्देश दिया तथा अपने संबोधन में कहा कि केन्द्र सरकार ने देश के नौजवानों को नौकरी के नाम पर ठगा है। काला धन वापसी के नाम पर पूरे देशवासियों को गुमराह किया गया।

सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष डा. रामचन्द्र पूर्वे ने कहा कि मार्च की सफलता के लिए सभी जिला में बैठक कर ली गयी है। सभी जिला से नेता, कार्यकर्ता भारी संख्या में मार्च में शामिल होंगे। आये हुए अतिथियों का स्वागत जिला मुख्य प्रवक्ता मृत्युंजय कुमार यादव ने किया।

बैठक को पूर्व विधायक धमेन्द्र प्रसाद के अलावे प्रदेश प्रवक्ता मनीष यादव, डा. अनवर आलम, मदन शर्मा, राज किशोर प्रसाद, राजू कुमार मुन्नापटना जिला से प्रदेश पदाधिकारियों में अशोक वर्मा, मदन शर्मा, संटू कुमार यादव चन्देश्वर प्रसाद सिह, संजय बाल्मिकी, भाई सनोज यादव, शोभा प्रकाश, भाई अरूण कुमार, नूतन पासवान, बबन यादव,, देवकिशुन ठाकुर, त्रिभुवन यादव, राज किशोर यादव, सहिपत प्रसाद यादव, मुन्नी रजक, उमेश यादव, सत्येन्द्र पासवान, रामाशीष यादव, रामउचित चैधरी, दिनेश सिंह यादव, सुरेन्द्र कुमार, मोहम्मद मुन्ना, रियाज खान, धु्रव कुमार यादव, अवधेश भारती, दयानंद प्रसाद, शिवराज कुमार, रामजतन यादव, राजीव प्रसाद चुन्ना, रामसुहावन यादव, विनय बिहार, निर्भय अंबेदकर, कामेश्वर यादव, ई. अशोक यादव, ईं वकील अहमद खान, रेखा देवी, बल्ली यादव, कौशल यादव, रामजतन सिन्हा, सुनील यादव, कौशलेन्द्र, राजा चैधरी, दिनेश रजत, देवकरण यादव, जय कुमार निराला, अजीत मेहता, छोटे खान, राजा सिन्हा समेत हजारों की संख्या में राजद के कार्यकर्ता मौजूद थे और सभी लोगों ने एक सूर से राजभवन मार्च को सफल बनाने हेतू संकल्प लिया।

Previous articleकिसका मोहरा बन रहे हैं पहलाज निहलानी ?
Next articleफेसबुकियों से परेशान मोदी सरकार
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here