प्रदर्शन से पूर्व ही चर्चा में आई भोजपुरी फिल्म ‘‘चुन्नू बाबू सिंगापुरी’’

2
16

रामचंद्र//

प्रदर्शन से पूर्व ही चर्चा के केन्द्र में आई भोजपुरी फिल्म ‘‘चुन्नू बाबू सिंगापुरी’’ के ट्रायल शो में विशेष रूप से ‘‘बिहार भोजपुरी आकादमी’’ के अध्यक्ष डा. रविकान्त दूबे व राष्ट्रीय हिन्दी साप्ताहिक समाचार पत्र  बिहारी खबर के उप-संपादक अनूप नारायण सिंह भी उपस्थित थे। डा. आर. के दूबे  ने भोजुपरी फिल्म का ट्रायल शो देखने के बाद कहा कि लक्ष्य से भटक चुकी  भोजुपरी फिल्मों के इस दौर में यह फिल्म इतिहास रचने में कामयाब होगी। इस फिल्म को बिहार में टैक्स फ्री कराने के लिए वे अपने स्तर से बिहार सरकार से बात करेंगे। इस अवसर पर पत्रकार अनुप नारायण सिंह ने कहा कि आगामी 9 नवम्बर को छपरा में ‘सारण गौरव सम्मान’ का आयोजन किया गया है जिसमें  भोजपुरिया माटी के लाल ‘चुन्नू सिंगापूरी’ को ‘सारण गौरव सम्मान‘ से सम्मानित किया जा रहा है।
इस अवसर पर सिंगापुर के चाइनीज फिल्म निर्माता- के. एस. टैंग ने आये हुए सभी अतिथियों का तहेदिल से शुक्रिया अदा किया है। भोजपुरी को नई दिशा देने की बात कही।
‘चुन्नू सिंगापूरी’ ने भोजपुरी भाषा के मान-सम्मान से खिलवाड़ करने वाले फिल्मकारों को सचेत करते हुए कहा कि उनकी फिल्म मनोरंजन के साथ ही साथ भोजपुरी की अस्मिता में उठा एक प्रखर स्वर भी है। उन्होंने अपने फिल्म की युनिट के सभी सदस्यों को एक साफ-सुथरी एवं मनोरंजक फिल्म के निर्माण के लिए बधाई दी। यह ट्रायल शो कार्यकारी निर्माता ‘चेतन बाबू’ के देखरेख में किया गया।
पोलोनिया वत्स इंटरटेनमेंट प्रस्तुत फिल्म ‘‘चुन्नूबाबू सिंगापूरी’’ के निर्माता ‘के. एस. टैंग’ हैं, कार्यकारी निर्माता ‘चेतन बाबू’ तथा निर्देशक मनोज श्रीपती झा हैं। कथा व संवाद सुरेन्द्र मिश्रा, संगीत छोटे बाबा, गीत प्यारेलाल यादव ‘कवि’, राजेश मिश्रा, चुन्नू सिंगापुरी, प्रमोद पाण्डेय, उमेश ‘अनमोल’ तथा धर्मेन्द्र सिंह। छायांकन जगविंदर सिंह हुंदल, नृत्य अमित नायक, मारधाड़ हीरालाल यादव, कला राजीव रसिक, संकलन विभूति भूषण।
मुख्य कलाकार हैं-चुन्नू सिंगापुरी, प्रिया शर्मा, राखी त्रिपाठी, धर्मेन्द्र सिंह, आनंद मोहन, जे. के. सिंह, सारिका संघमित्रा, विनोद मिश्रा, अविनाश त्रिपाठी तथा संजीव झा एवं बालेश्वर सिंह। मेहमान भूमिका में दिव्या द्विवेदी, नेहा श्री सिंह, आलोक सिंह (सिंगर), एवं आईटम नृत्य सीमा सिंह।
इस अवसर पर ‘‘बिहार भोजपुरी आकादमी’’ के अध्यक्ष डा. रविकान्त दूबे व राष्ट्रीय हिन्दी साप्ताहिक समाचार पत्र बिहारी खबर के उप-संपादक अनूप नारायण सिंह के अलावा अभिनेता- गोपाल राय, हैदर काज़मी, शुभम तिवारी, मनोज व्दिवेदी, गौरव झा, उत्तम मोहंती, संजय छपरी, अविनाश त्रिपाठी, जनार्दन सिंह, विवेक व्दिवेदी इत्यादि तथा फिल्म निर्माता-शम्भू पाण्डेय, विनय शुक्ला, आर डी चौहान एवं फिल्म निर्देशक- राजकुमार आर पाण्डेय, हैरी फर्नाडिज, बालकृष्ण सिंह, रवि सिन्हा, रजनीश त्यागी, देव पांडे, अशोक त्रिपाठी अत्री आदि के अलावा मुख्य अतिथि सुशील खेन्तन, रेनू पाठक, प्रीति पाठक, प्रिया शर्मा, पायल सेठ, नेहा, उदभव पाण्डेय, सूरज, अजय कुमार, शिवशंकर पाल इत्यादि ने ढेर सारी बधाई दिया और फिल्म के सफल होने की मंगल कामना की।

Previous articleप्रकृति में विज्ञान की घुसपैठ… (कविता)
Next articleहिंदी विवि में ‘रचना-प्रकिया’ पर हुआ गंभीर विमर्श
सदियों से इंसान बेहतरी की तलाश में आगे बढ़ता जा रहा है, तमाम तंत्रों का निर्माण इस बेहतरी के लिए किया गया है। लेकिन कभी-कभी इंसान के हाथों में केंद्रित तंत्र या तो साध्य बन जाता है या व्यक्तिगत मनोइच्छा की पूर्ति का साधन। आकाशीय लोक और इसके इर्द गिर्द बुनी गई अवधाराणाओं का क्रमश: विकास का उदेश्य इंसान के कारवां को आगे बढ़ाना है। हम ज्ञान और विज्ञान की सभी शाखाओं का इस्तेमाल करते हुये उन कांटों को देखने और चुनने का प्रयास करने जा रहे हैं, जो किसी न किसी रूप में इंसानियत के पग में चुभती रही है...यकीनन कुछ कांटे तो हम निकाल ही लेंगे।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here