मुंगेर में बाहुबली भाजपा नेता अरुण यादव उर्फ बड़ा बाबू व उनकी पत्नी की मौत के मामले में उठने लगे सवाल

0
231

आत्महत्या या हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस, पुलिस ने अरुण यादव के कमरे से पिस्टल और गोली किया बरामद

लालमोहन महाराज, मुंगेर। मुंगेर कोतवाली थाना क्षेत्र के लाल दरवाजा निवासी अरुण यादव उर्फ बङा बाबू तथा उनकी पत्नी भाजपा नेत्री प्रीति कुमारी का खून से लथपथ शव उनके घर से पुलिस ने बरामद किया है। दोनों पति-पत्नी का शव बंद कमरे से मिला है । दोनों की मौत गोली लगने से हुई है। मुंगेर नगर निगम चुनाव में बाहुबली भाजपा नेता अरुण यादव अपनी पत्नी प्रीति कुमारी को मेयर पद से चुनाव लड़ाने की पूरी रणनीति बना रखी थी। चुनाव से पूर्व पति-पत्नी का शव मिलने से चर्चाओं का बाजार भी गर्म है । कोतवाली पुलिस आत्महत्या या हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी हुई है। यूं तो नगर निगम चुनाव अगले कुछ माह में होना है, लेकिन मुंगेर में नगर निगम के मेयर चुनाव के पहले ही बड़ा खेला हुआ है। दरअसल मुंगेर नगर निगम क्षेत्र के भाजपा नेता ओबीसी मोर्चा के अरुण यादव ने अपनी पत्नी भाजपा नेत्री प्रीति यादव को मेयर पद का भावी प्रत्याशी घोषित कर पिछले दो महीनों से खूब प्रचार-प्रसार कर रहे थे। यहां तक कि वह बड़े-बड़े पोस्टर बैनर के अलावे गांव गली में घूमने वाला प्रचार शुरू कर दिया था। पिछले सप्ताह से तो उनका डोर टू डोर कैंपेनिंग भी हो रहा था । मुंगेर शहर के लोग यह मानने लगे थे कि मेयर के प्रबल दावेदार हैं। ऐसे में गुरुवार की शाम अचानक दोनों का शव बंद कमरे में मिला। मृतक अरुण यादव के कमर से पुलिस ने पिस्टल भी बरामद किया है । कई सवाल उठ रहे हैं कि यह आत्महत्या है या हत्या ? फिलहाल पुलिस घटना के जांच में जुट गई है और आत्महत्या या हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी है ।ऐसे प्रथम दृष्टया यह पति-पत्नी के आपसी विवाद में आत्महत्या का मामला प्रतीत होता है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि पति-पत्नी के आपसी विवाद में बाहुबली अरुण यादव ने पहले अपनी पत्नी को गोली मारकर हत्या कर दी। उसके बाद स्वयं उसने भी अपने आप को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। हालांकि यह जांच का विषय है । पुलिस आत्महत्या या हत्या के बिंदु पर जांच कर रही है। स्थानीय लोगों की माने तो पति पत्नी के बीच बहुत अच्छा प्रेम भाव पूर्ण संबंध था। शाम में जैसे ही लोगों को सूचना मिली कि भाजपा नेता बाहुबली अरुण यादव और उनकी पत्नी भावी मेयर प्रत्याशी प्रीति कुमारी का खून से लथपथ शव बंद कमरे में है। यह चर्चा आग की तरह पूरे शहर में फैल गई । देखते ही देखते हजारों की संख्या में लोग मृतक के घर मोहल्ले पहुंच गए। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और अरुण यादव के कमर से पिस्टल तथा कमर से गोली की बंद पेटी बरामद किया। अरुण यादव का शव जहां पलंग के ऊपर था, वहीं उनकी पत्नी भाजपा नेत्री प्रीति कुमारी का शव जमीन पर पङा मिला। इस घटना को लेकर जितनी मुंह उतनी बातें हो रही है ।कोई कह रहा है अरुण यादव को अपनी पत्नी को मारने व अपने आप को गोली मार लेने के लिए मात्र दो या चार गोली की जरूरत थी ।जबकि मरणोपरांत अरुण यादव के कमर में कारतूस से भरा हुआ बेल्ट पाए जाने पर तरह तरह की प्रतिक्रिया सामने आ रही है। वहीं दूसरी ओर पुलिस हत्या या आत्महत्या के दोनों बिंदुओं पर छानबीन कर डबल मर्डर की गुत्थी सुलझाने में लगी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here